बंसी बजा, बजा रे कन्हैया...गीत

ग्राम-लोहंदी, विकासखण्ड-मोहकेड़, जिला- छिन्दवाडा (मध्यप्रदेश) से सीमा सरेयाम एक आरती गीत सुना रही है :
बंसी बजा...बजा रे कन्हैया-
बंसी बजौवा तो क्या देगी राधा – ले लेना रे मेरे माथे की बिंदिया – ले लेना रे मेरे नाक की नथनी – ले लेना रे मेरे कान की कुण्डल-
बंसी बजा ..बजा रे कन्हैया...

Posted on: Feb 10, 2019. Tags: JYOTI UIKEY

एक दल रेंगे हांथी और घोड़ा एक दल रेंगे ऊंट...शादी गीत-

ग्राम-तरहुल, जिला-उत्तर बस्तर कांकेर (छत्तीसगढ़) से ज्योति कुरटिया एक शादी गीत सुना रही हैं:
एक दल रेंगे हांथी और घोड़ा, एक दल रेंगे ऊंट गा भईया एक दल रेंगे ऊंट-
घोड़वा मा नाचे गणेश कुमारी, चमके चारो खूंट गा भईया चमके चारों खूंट-
चाँदी, चाँदी के खंभा गड़े हे, सोना के लगे केंवार गा भईया-
हीरा-मोती के झूला गड़े है, झूले यशोदा के लाल गा भईया-
झूले यशोदा के लाल...

Posted on: Aug 05, 2018. Tags: CULTURE SONG JYOTI KURATIYA KANKER

अपले आई बापा ला तू दुखऊ न को, दुखऊ न को...मराठी गीत

केशलापुर हाईस्कूल, जिला-आदिलाबाद (तेलंगाना) से ज्योति एक माता-पिता के बारे में मराठी में एक गीत सूना रही है :
अपले आई बापा ला तू दुखऊ न को, दुखऊ न को-
जानी तूला जन्म दिला तन्या तू बिसरू न को-
जन्म देवो ने तू लालानस मोटे केले-
कड़ी खांद्यावरी उत्लू न खेड़ा या नेले-
आता धारुनी तूला सा सईंला सिक बीले-
अपले आई बापा ने तू ने बोलई ला सिक बीले-
अपले आई बापा ने उल्टा कदी भालू नको...

Posted on: Aug 02, 2018. Tags: JYOTI ADILABAD MARATHI SONG

रजी नमे रजी परता रजी रजी नमे रजी परता रजी...झारखण्डी गीत

ग्राम-कुर्केल, पंचायत-रामपुर, ब्लाक-चैनपुर, जिला-गुमला (झारखंड) से ज्योति एक्का, प्रतिमा लकड़ा और सुमित्रा खलखो एक गीत सुना रहे है:
रजी नमे रजी परता रजी रजी नमे रजी परता रजी-
बारा के जोड़ी रे ओसा पूटू पिसागे-
रजी नमे रजी परता रजी रजी नमे रजी परता रजी-
बारा के जोड़ी रे ओसा पूटू पिसागे-
रमे रजी नो चरिया परिया हरा भरा सोहान रे-
रजी नमे रजी परता रजी रजी नमे रजी परता रजी...

Posted on: Jul 13, 2018. Tags: JYOTI EKKA PRATIMA LAKDA SUMITRA KHALKHO

बेटी हूँ मैं बेटी, मैं तारा बनूँगी...बेटियों पर गीत

ग्राम-कंकोल , प्रखंड-चैनपुर, जिला गुमला (झारखण्ड) से ज्योति लकड़ा और अल्का सुचिता खलखो बेटियों पर आधारित एक गीत सुना रहे है:
बेटी हूँ मैं बेटी मैं तारा बनूँगी-
तारा बनूगी मैं सहारा बनूँगी-
गगन में चमके चंदा मैं धरती पे चमकुंगी-
धरती पे चमकुंगी मैं उजाला लाऊंगी-
पढूंगी लिखूंगी मैं मेहनत भी करुँगी-
अपने पाँव चलकर दुनिया को देखूंगी-
दुनिया को देखूंगी मैं दुनिया को समझूंगी-
बेटी हूँ मैं बेटी मैं तारा बनूँगी...

Posted on: Jul 12, 2018. Tags: ALKA SUCHITA KHALKHO JYOTI LAKDA SONG

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download