अपनों से अलग होने से हमारी कीमत कम रह जाती है, कृपया अपने परिवार, मित्रों से हमेशा जुड़े रहें...

हरिशंकर रजक एक कहानी सुना रहे है: जब अंगूर खरीदने बाजार गया, उसका क्या भाव है पूछा तो बोला 80 रूपये किलो। पास ही कुछ अलग-अलग टूटे हुए अंगूर दाने पड़े हुए थे पूछा क्या भाव है बोला 30 रूपये किलो। मैंने पूछा इतना कम दाम क्यों ओ बोला साहब है तो अभी बहुत बढिया लेकिन अपने गुच्छे से टूटे गये है इसलिए। मैं समझ गया कि अपनों से अगल होने पर हमारी कीमत आधे से भी कम रह जाती है कृपया आपने परिवार मित्रो से हम हमेशा जुड़े रहे:
दूसरा एक चुटकुला : एक पढ़ा लिखा आदमी एक अनपढ़ ग्वार दोनों दोस्त है अनपढ़ बोलता है पढ़ा लिखा से घड़ी और बीबी में क्या अंतर है पढ़ा लिखा आदमी बोलता है घडी बिगड़ जाती है तो बंद हो जाती जब बीबी बिगड़ जाती है तो शुरु हो जाती है...

Posted on: Sep 20, 2018. Tags: BODLA CG HARISHANKAR RAJAK JOKE KABIRDHAM STORY

ज्यादा घूमा फिरा न करो शैतान घूमते है...चुटकुला

ग्राम-तमनार, जिला-रायगढ़,(छत्तीसगढ़) से कन्हैयालाल पडियारी एक चुटकुला सुना रहे हैं:
पिता: बेटा अँधेरी रात में ज्यादा घूमा फिरा न करो शैतान घूमते है-
बेटा : पिता जी आप रात-रात भर घूमा करते है, आपको शैतानो से डर नही लगता है-
पिता: बेटा अब तो मै बड़ा हो गया हूँ जब मै छोटा था, तो बहुत डरता था मेरा पिता तेरे दादा जी यही कहा करते थे-
बेटा : पिता जी आप डरते थे इसलिए आप भी मुझे डरा रहे हैं पर मै तो नया जमाने का हूँ आज शैतानों से कोई नही डरता है तो मै क्यों डरूं-
पिता : बेटा शैतानों से न दोस्ती करनी चाहिए न दुश्मनी करनी चाहिए दोनों ही महंगा पड़ता है-
बेटा : पिता जी शैतानों से दोस्ती ही करना चाहिए उससे लाभ ही लाभ है मैने उनसे दोस्ती की है...

Posted on: Sep 09, 2018. Tags: CG JOKE KANHAIYALAL PADIYARI RAIGARH

दादी और पोती के बीच वाद विवाद...चुटकुला

ग्राम-तमनार, जिला-रायगढ़ (छत्तीसगढ़) से कन्हैयालाल पडियारी एक चुट्कुला सुना रहे है, एक दादी और पोती आपस में बात करते है-
दादी- तू दिनभर चपड़-चपड़ करती रहती है, एक मिनट चुप नही रहती-
पोती- आप भी तो दिनभर कुछ न कुछ बोलती रहती है, कभी मम्मी से, कभी पापा से, कभी भईया से, कभी मुझसे-
दादी- मै तेरे भलाई के लिए कह रही हूँ, जब तू शादी होकर ससुराल जाएगी तो तेरा सास ननद, ससुर, जेठ-जेठानी, देवरानी कहेंगे कि कहां से इसे उठा लाए-
पोती- मै तो ऐसे घर में बिहा कर जाउंगी, जहां आप जैसा कोई खूसठ बूढी-बुढा ना हो,
ना सास हो, ना ससुर, ना जेठ-जेठानी, ना ननद देवर हो-
उसके बाद दोनों चुप हो जाते हैं और अलग-अलग चले जाते हैं...

Posted on: Sep 08, 2018. Tags: CG JOKE KANHAIYALAL PADIYARI RAIGARH

देखना कहीं लडकियां उठाकर ले न जायेंगे...चुटकुला

ग्राम-तमनार, जिला-रायगढ़, (छत्तीसगढ़) से कन्हैयालाल पडियारी एक चुटकुला सुना रहे हैं:
जीजा : साला तू ज्यादा घुमंतू होते जा रहा है देखना कहीं लडकियां उठाकर ले न जायेंगे-
साला : जीजा जी आपको भी लडकियां उठाकर ले गये थे जो आप मुझे बता रहे हैं-
जीजा : हाँ तेरी दीदी मुझे उठाकर ले गई थी इसलिए तो आज तक भुगत रहा हूँ नौकर बनकर रह गया हूँ-
साला: ऐसी चुड़ेल आज तक पैदा नही हुई है कि मुझे कोई उठाकर ले जाए मै खुद ही उठाकर ले आउंगा मै नौकर बनकर नही रहूंगा-
जीजा : तेरा बहन चुड़ेल है जो तुम कह रहे हो मै तो लड़की समझकर शादी किया था इसलिए मुझे इतना सताती है-
साला: मै अपने दीदी के बारे में थोड़े ही कह रहा हूँ मै तो मुझे उठाने वाली लड़की के बारे में कह रहा हूँ-
जीजा : देखूंगा जब तेरा शादी होगा तो कितना मार खाओगे...

Posted on: Sep 07, 2018. Tags: CG JOKE KANHAIYALAL PADIYARI RAIGARH

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download