गोंडी गोगो पाटा=देव गीत, नेल पाटा=खेती गीत, पुनेमी पाटा=धर्म गीत, मोहलाल पाटा=मुक्त गीत...

जयश्री गावड़े आज गोंडी संस्कृति में गीत और नृत्य के विभिन्न प्रकारों के बारे में बता रही है| पहला है-गोगो पाटा या देवगीत, यह गीत विभिन्न गोंडी देव की आराधना में गाया जाता है जैसे फरसापेन गीत, भीमलपेन गीत, सयुंग गीत, नारण पेन गीत| दूसरा-पुनेमी पाटा, धार्मिक गीत, कोया पुनेम की स्तुति में गाया जाने वाला गीत है- पुनेमी पाटा-इसमें जंगो लिंगो सगा पेन भूमल आदि की स्तुति की जाती है| तीसरा-पनगु पाटा-त्यौहार गीत, विभिन्न त्योहारों के अवसरों पर गाए जाने वाले गीतों को पनगु पाटा कहा जाता है| चौथा-नेल पाटा-खेती गीत-खेतो में काम करते समय सामूहिक रूप से गाया जाता है उन्हें नेट पाटा कहते है| पांचवा-मोहलाल पाटा-मुक्त गीत-यह जंगल में घूमते समय सुबह और शाम के समय गाया जाता है |

Posted on: Mar 04, 2017. Tags: JAYSHREE GAVDE

रे रेला रे रेला रे रेला रेला रे रे रेला रे रे रेला...गोंडी गोटुल गीत

ग्राम-सालेभट्टी, तहसील-धनोरा, जिला-गढ़चिरोली (महाराष्ट्र) से जयश्री गावड़े एक गोंडी गीत सुना रही है जो गोटुल में गाया जाता है:
रे रेला रे रेला रे रेला रेला रे रे रेला रे रे रेला-
सैय रेला रे रे रेला रेला रे रे रेला रे रेला-
येंदेनम गर्सेनम नाटे घोटुल वायेना-
कोलंग कर्रिलो नना वायेना नाटे न घोटु दे-
लयो रा घोटू दे नाटे न घोटू दे...

Posted on: Mar 02, 2017. Tags: JAYSHREE GAVDE

रे रे लोयो रे रे लोयो रे रेला रे रेला...गोंडी गीत

ग्राम-मोहगाँव, तहसील-धनोरा, जिला-गढ़चिरोली (महाराष्ट्र) से जयश्री गावड़े एक गोंडी गीत सुना रही है:
रे रे लोयो रे रे लोयो रे रेला रे रेला-
री री लोयो री री लोयो री री लोयो-
केयोंग केयिंग ता ताका डोंगुर मेटा ते-
जलयो लेंदिता वायोन न आयो वायेना-
ताका डोंगुर मेटा ते जलयो लेंदिता-
सीजी नेट ते वायेना वो गोंडी-
बुल्टू रेडियो ते पाटा इनेना वो...

Posted on: Oct 28, 2016. Tags: UTTAM ATALA JAYSHREE GAVDE

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download