गवईया होते ता गवाते तोला ओ...छत्तीसगढ़ी गीत-

ग्राम-अमनडुला, जिला-जांजगीर चांपा (छत्तीसगढ़) से चंद्रकांत लहरे एक छत्तीसगढ़ी गीत सुना रहे हैं:
गवईया होते ता गवाते तोला ओ-
नाचईया होते ता नाचतेव रे-
सगा होते ता तोला ओ रानी बिहा लेतेव हो...

Posted on: Mar 16, 2021. Tags: CG SONG CHANDRAKANT LAHRE JANJGIR CHAPA

तुम को देखा तो ये ख्याल आया...गीत-

ग्राम-दोतमा, ब्लॉक-जयजयपुर, जिला-जांजगीर चापा (छत्तीसगढ़) से संपतलाल यादव गीत सुना रहे है:
तुम को देखा तो ये ख्याल आया-
जिन्दगी धुप तुम घना छाया-
आज से दिल एक कमल न के-
आज के दिल को हमने समझाया-
जिन्दगी धुप तुम घना छाया-
तुम को देखा तो ये ख्याल आया...

Posted on: Mar 10, 2021. Tags: CG HINDI SONG JANJGIR CHAPA

तुम्हारा मन व्याकुल न हो...छंद-

ग्राम-रनपोटा, पोस्ट-मरघटी, तहसील-मालखरोदा, जिला-जांजगीर (चापा) छत्तीसगढ़ से कृष्णा कन्हैया एक छंद सुना रहे हैं, तुम्हारा मन व्याकुल न हो, तुम परमेश्वर पर विश्वास रखते हो मुझ पर भी विश्वास रखो। मेरे पिता के घर में बहुत से रहने के स्थान हैं, यदि न होते, तो मैं तुम से कह देता क्योंकि मैं तुम्हारे लिये जगह तैयार करने जाता हूं। और यदि मैं जाकर तुम्हारे लिये जगह तैयार करूं, तो फिर आकर तुम्हें अपने यहां ले जाऊंगा, कि जहां मैं रहूं वहां तुम भी रहो। और जहां मैं जाता हूं तुम वहां का मार्ग जानते हो। थोमा ने उस से कहा, हे प्रभु, हम नहीं जानते कि तू हां जाता है तो मार्ग कैसे जानें? यीशु ने उस से कहा, मार्ग और सच्चाई और जीवन मैं ही हूं; बिना मेरे द्वारा कोई पिता के पास नहीं पहुंच सकता। (184127) GT

Posted on: Feb 26, 2021. Tags: CG CHHAND JANJGIR CHAPA KRISHAN KANHAIYA

तय घुमेला आयबे तोरी मोर....गीत-

जिला-जांजगीर चापा (छत्तीसगढ़) से सम्पतलाल यादव एक छत्तीसगढ़ी गीत सुना रहे है :
तय घुमेला आयबे तोरी मोर-
रायगड़ बाजार घुमेला आयबे-
सन पुत्री कस तोला सजा बो-
रंग रंग के खावा हो रे-
कोरबती कर धनिया तोरे-
कमर मा पैरा हूँ ...(184579)

Posted on: Feb 23, 2021. Tags: CG CHHATTISGARHI SONG JANJGIR CHAPA SAMPATLAL YADAV

स्वास्थ्य स्वर : मुनंगा से दूध आने का घरेलू उपचार-

जिला-जांजगीर चांपा (छत्तीसगढ़) कृष्णा बंजारे आयुर्वेदिक उपचार बता रहे हैं
दूध न आने का घरेलू उपचार मुनगा का जड़ी को चार अंगुल लेकर उसे तीन भागों में बांट दे। चावल धोने का पानी एक कटोरी लेकर उस जड़ी को पीसकर पानी में मिलाकर पिलाने से दूध आना शुरू हो जाता है। नहीं वस्त्र पहन कर नाहा धोकर ही इसका उपयोग करना चाहिए। मुनंगा का जड़ लेने जाते समय नारियल अगरबत्ती चढ़ाकर लाए।(185223)

Posted on: Feb 19, 2021. Tags: CG HEALTH JANJGIR CHAPA KRISHNA BANJARE

« View Newer Reports

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »


YouTube Channel




Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download