मुंह औंधाए झनि बइठौ जी अइसन ठाड़ जवानी मा...छत्तीसगढ़ी प्रेरक गीत

ग्राम पंचायत-कामठी, तहसील-पंडरिया, जिला-कबीरधाम, छत्तीसगढ़ से जलेश कुमार मरकाम छत्तीसगढ़ी भाषा में एक प्रेरक गीत प्रस्तुत कर रहे हैं:
मुंह औंधाए झनि बइठौ जी अइसन ठाड़ जवानी मा-
उठौ देखि लौ दशा देश के आगि लगा दौ पानी मा-
कतिकौ रुधना टूट-टाटके हो गए चार दिवारी मा-
खून सबै के पानी हो गए नइए धार जवानी मा-
चिटको पानी है तन मा तो बात अड़ा लौ वाणी मा-
उठौ देखि लौ दशा देश के आगि लगा दौ पानी मा...

Posted on: Apr 08, 2016. Tags: JALESH KUMAR MARKAM

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download