Impact: Our subsidised ration started 15 days after reporting on CGnet...

प्रखंड-निराल, जिला-गढ़वा (झारखण्ड) से सामाजिक कार्यकर्ता जहूर अंसारी बता रहे है कि इन्होने सीजीनेट स्वर में एक सन्देश रिकॉर्ड करवाया था जिसमे लोगो ने बताया था कि उनको (P.D.S.) उचित मूल्य की दुकान से राशन नहीं दिया जा रहा था. दुकानदार कह रहा था कि आपका अंगूठा काम नहीं कर रहा है तो कहीं मशीन काम नहीं कर रहा है इस तरह से लोगो को राशन से वंचित कर रहा था तो सीजीनेट में सन्देश रिकॉर्ड होने के 15-20 दिनों बाद प्रखंड विकास पदाधिकारी दुकान गए और जितने लोगो की शिकायत थी उन सब लोगो को 2-2 महीनो का राशन दे दिया गया इसलिए सीजीनेट सुनने वाले साथियों को धन्यवाद दे रहे है जिन्होंने अधिकारियों पर फोन करके दबाव डाला। अंसारी@8809058395

Posted on: May 08, 2017. Tags: FOOD JAHOOR ANSARI RATION CARD