तोसो-तोसो कामे करयो बुझे कहाँ पछताए...भीली फसल गीत

ग्राम-हिगवी, पोस्ट-आली, तहसील-डही, जिला-धार (म.प्र.) से एलम सिंह कन्नोज आदिवासी इलाकों में फसल काटते समय गाया जाने वाला गीत सुना रहे हैं:
तोसो-तोसो कामे करयो बुझे कहाँ पछताए-
चुप यु बाबा यन बिगड़ा आन्दा है रे खाने-
वारलु कामो मा वारलु कामो मा उजगाय नी कोरलो रे-
नी कोरलो रे इन्ही जिन्दगी नु काईनी ठिकाडु रे-
जो जीवन छे मिटटी का ठेला पानी लागे तो गली जाये-
यो जीवन थी मिटटी का डेला,यो जीवन थी मिटटी का डेला-
पानी ला गेत गली जाए, जीवन दो दिन का...

Posted on: Oct 23, 2016. Tags: ILAAM SINGH KANNOJ

दुनिया म परदेशी, दुनिया म परदेशी...भीली गीत

ग्राम-हिगवी, पोस्ट-आली, तहसील-डही, जिला-धार (म.प्र.) से ईलाम सिंह कन्नोज परदेशी क्या हैं, उसके ऊपर आधारित एक भीली भाषा में गीत सुना रहे हैं:
दुनिया म परदेशी, दुनिया म परदेशी-
ये डोसा रे आया रे डोसा जानूचे-
दुनिया म परदेशी, दुनिया म परदेशी-
ये खेतिने लाया रे हमो वाडी ने लाया-
दुनिया म परदेशी...

Posted on: Oct 06, 2016. Tags: ILAAM SINGH KANNOJ

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download