एक दिन नदी के तिरे साथ रहली धीरे-धीरे...गीत-

जिला-गाजीपुर, उत्तरप्रदेश से सनोज यादव एक गीत सुना रहे हैं:
एक दिन नदी के तिरे साथ रहली धीरे-धीरे-
हम आंखी में देखली सुन्दर शरिया आगियाँ-
सुन्दर शरिया आगियाँ में जाए रहली वो-
एक दिन नदी के तिरे साथ रहली धीरे-धीरे...(185177)

Posted on: Mar 09, 2021. Tags: GAJIPUR HINDI SONG SANOJ YADAV UP

यूँ घबराना नही कभी...रचना-

जिला-रायगढ़ (छत्तीसगढ़) से राजेन्द्र गुप्ता एक कविता सुना रहे हैं :
यूँ घबराना नही कभी-
मौत मुड़कर आती नही कभी-
वक्त भी मुड़कर आती नही-
बस स्मृति शेष बनकर रह जाती देश...(185387)

Posted on: Mar 09, 2021. Tags: CG RACHNA RAIGARH RAJENDRA GUPTA

गिरजा के नंदन पहली है वंदन...भजन गीत-

जिला-मुंगेली (छत्तीसगढ़) से मुकेश राजपूत एक भजन गीत सुना रहे हैं :
गिरजा के नंदन पहली है वंदन-
रामकथा में आओ महाराज-
हरी कीर्तन में आओ महाराज-
चरण विजय प्रभु मोर विनय करबे-
राम के भक्ति ला मा हृदय माँ धरले-
बड़े बड़े ऋषिमुनी गावत हवय तोर गुनी...

Posted on: Mar 09, 2021. Tags: BHAJAN SONG CG MUKESH RAJPOOT MUNGELI

हमसे का भूल हुई जो ये सज़ा हमका मिली...गीत-

मटिया आलम, निबुआ नारंगिया, जिला-कुशीनगर, उत्तरप्रदेश से सुकई कुसवाहा एक गीत सुना रहे हैं:
हमसे का भूल हुई जो ये सज़ा हमका मिली-
अब तो चारों ही तरफ़ बंद है दुनिया की गली-
हमसे का भूल हुई जो ये सज़ा हमका मिली-
दिल किसी का न दुखे हमने बस इतना चाहा-
पाप से दूर रहे झूठ से बचना चाहा...

Posted on: Mar 09, 2021. Tags: KUSHINAGAR SONG SUKAI KUSWAHA UP

मोर छत्तीसगढ़ के माटी...गीत-

जिला-मुंगेली, छत्तीसगढ़ से मुकेश राजपूत एक गीत सुना रहे हैं, जिसके बोल हैं, “मोर छत्तीसगढ़ के माटी” |
मोर छत्तीसगढ़ के माटी-
तोला कतका करो मै हा चार-
इंहा के माटी हा चंदन बने हे-
ऋषि मुनि के माथा मा लगे हे-
सुर के संग संग गीत साजे हे-
मया के डोरी मा सबो बंधे हे... (AR)

Posted on: Mar 09, 2021. Tags: CG MUKESH RAJPUT MUNGELI SONG

« View Newer Reports

View Older Reports »