जागे मांम आदिवासी, ईतल बातल निकुन नींद लागता...गोंडी शिक्षा गीत

ग्राम-आलमपुर, तहसील-चिचोली, जिला-बैतूल (म.प्र.) से साथी हेमपुष्पा यादव जी एक गोंडी गीत गा रही हैं । यह गीत आदिवासी समाज के लोगों के लिए शिक्षा पर आधारित हैं. इसका अर्थ है- अब तो जाग जाओ, सोने का समय खत्म हो गया है...

जागे मांम आदिवासी, ईतल बातल निकुन नींद लागता
जागे मांम त आदीवासी, ईतल बातल निकुन नींद लागता
भैया पढ़े किम, भाभी पढ़े किम
भैया पढ़े किम, भाभी पढ़े किम
जागे मांम त आदीवासी, ईतल बातल निकुन नींद लागता
चाचा पढ़े किम, चाची पढ़े किम
जागे मांम त आदीवासी, ईतल बातल निकुन नींद लागता
भैया पढ़े किम, भाभी पढ़े किम
त जागे मांम त आदीवासी, ईतल बातल निकुन नींद लागता

Posted on: Jul 11, 2014. Tags: Hempushpa Yadav

तड़ा नावा नवरंगी साडी नवेल्दा...गोंडी विवाह गीत

ग्राम आलमपुर पोस्ट पाथाखेड़ा जिला बैतूल (म. प्र) से हेमपुष्पा यादव जी एक गोंडी गीत गा रही है गीत के बोल है – तड़ा नावा नवरंगी साडी नवेल्दा
चूडर रे तुड़ी बिंदिया कर्ता
बिंदिया ते नाम बढ़ी किता नवेल्दा
चूडर तुड़ी रडे कंगना कर्ता
कंगना ते नाम बढ़ी किता नवेल्दा
तड़ा नावा नवरंगी साडी नवेल्दा

Posted on: Apr 21, 2014. Tags: Gondi Hempushpa Yadav

जाने मायना रीति रिवाज जाने मायना रीति रिवाज...गोंडी गीत

ग्राम आलमपुर पोस्ट पाथाखेड़ा तहसील चिचोली जिला बैतूल (मप्र) से हेमपुष्पा यादव जी एक गोंडी गीत गा रही है इसमें आदिवासियो के रीति रिवाजो के बारे में बताया गया है...
जाने मायना रीति रिवाज जाने मायना रीति रिवाज
पहलो त्यौहार मावा अखाड़ी ते वाता
अणि लड्डू बने माता
जाने मायना रीति रिवाज जाने मायना रीति रिवाज
धुनि वाले दादा न धुनि रमे माता
जाने मांम रीति रिवाज मावा जाने मांम
दुसरो त्यौहार मावा पोला ते वाता
जाने मांम रीति रिवाज मावा जाने मांम

Posted on: Mar 03, 2014. Tags: Hempushpa Yadav

हमारो भारत देश बचो बीच जाके मध्यप्रदेश...गोंडी गीत

हमारो भारत देश बचो बीच जाके मध्यप्रदेश
चम्बल सोना खेती को सींचे
मईयाँ नर्मदा जीवन उलीचे
ओ मेरे भैया सुनो माँ बहना
गँगा जमना तीरथ करावे
कृष्ण कावेरी धीरज धरावे
मंडला गढ़ किलाते दुर्गावती रानी
हैले जानी माँ रोतनी कहानीं
महात्मा गाँधी नें नाम बज माता
इंदिरा गाँधी नें नाम चमके माता
बिड़ला भवन्ते सभा ये माता

Posted on: Feb 16, 2014. Tags: Gondi Hempushpa Yadav

साडी अनी दिकड़ी नवा कवी न रो भैया भारतवासी आंदोम...गोंडी देशभक्ति गीत

ग्राम आलमपुर तहसील जिला बैतूल (म.प्र.) से हेमपुष्पा यादव एक गोंडी गीत गा रही है इस गीत के माध्यम से हेमपुष्पा जी बता रही है कि हम सब लोग भारतवासी है और जो भी कपडे और खाने पीने और पहनने की है वह इस देश की है
भारतवासी आंदोम भैया भारतवासी आंदोम
साडी अनी दिकड़ी नवा कवी न रो भैया भारतवासी आंदोम
जावा अनी कुसरी अनी कवी न रो भैया भारतवासी आंदोम
जाड़ी अनी कुसरी नवा कवी न रो भैया भारतवासी आंदोम
मौवा अनी फता नवा भारतवासी आंदोम भैया भारतवासी आंदोम

Posted on: Nov 11, 2013. Tags: Hempushpa Yadav

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download