हे रे माटी के तन, कर ले प्रभु के भजन...

अचानकमार्ग अभ्यारण्य के अंतर्गत आने वाले गाँव सरगढ़ी, तहसील-लोरमी, जिला-मुंगेली (छ.ग.) के साथी हीरा सिंह जी एक गीत गा रहे हैं:
हे रे माटी के तन, कर ले प्रभु के भजन
तरफो के फर न, हे पिंजरा के मैना
एक दिन उड़ा जाए, हाय रे हाय
एक दिन उड़ा जाई न
हे रे माटी के तन...
तरफो के फर न, ए ह्रदय के मैना
एक दिन, एक दिन उड़ा जाए ना, रे हाय रे
हाय रे एक दिन उड़ा जाए रे
हे रे माटी के तन...

Posted on: Aug 26, 2014. Tags: Heera Singh Marawi

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download