सहकार रेडियो : बाल चौपाल (घुमक्कड़ों के किस्सों की श्रृंखला)

बच्चों, सहकार रेडियो के कार्यक्रम “बाल चौपाल” में घुमक्कड़ों के किस्सों की श्रृंखला को आगे बढ़ाते हुए पटना, बिहार से  आपके अमिताभ अंकल (अमिताभ कुमार दास) आपको सुनाएंगे एक और घुमक्कड़ नैन सिंह रावत की कहानी| आपको ये कार्यक्रम कैसा लगा हमें ज़रूर बताइयेगा| ये कार्यक्रम सहकर रेडियो से लिया गया है | इस कार्यक्रम 08050068000 पर मिस्ड कॉल कर सुन सकते हैं |

Posted on: Jul 22, 2020. Tags: BAL CHAUPAL SAHKAR RADIO

सहकार रेडियो : बाल चौपाल (जिप्सी लड़की के नए जूते)

बच्चों, सहकार रेडियो के कार्यक्रम “बाल चौपाल” में आज सुनिए लोक कथा “जिप्सी लड़की के नए जूते”| इसे हमने www.arvindguptatoys.com से लिया है|आवाज़ जयपुर, राजस्थान से सुनीता जी की | आपको ये कार्यक्रम कैसा लगा हमें ज़रूर बताइयेगा| ये कार्यक्रम सहकर रेडियो से लिया गया है | इस कार्यक्रम 08050068000 पर मिस्ड कॉल कर सुन सकते हैं |      

Posted on: Jul 19, 2020. Tags: BAL CHAUPAL SAHKAR RADIO

सहकार रेडियो : बाल चौपाल (घुमक्कड़ों के किस्से)

बच्चों, सहकार रेडियो के कार्यक्रम “बाल चौपाल” में घुमक्कड़ों के किस्सों की श्रृंखला को आगे बढ़ाते हुए पटना, बिहार से  आपके अमिताभ अंकल (अमिताभ कुमार दास) आपको सुनाएंगे प्रथम अंतरिक्ष यात्री यूरी गागारिन की कहानी| आपको ये कार्यक्रम कैसा लगा हमें ज़रूर बताइयेगा| ये कार्यक्रम सहकर रेडियो से लिया गया है | इस कार्यक्रम 08050068000 पर मिस्ड कॉल कर सुन सकते हैं |             

Posted on: Jul 16, 2020. Tags: BAL CHAUPAL SAHKAR RADIO

सहकार रेडियो : बाल चौपाल (भूखी-पहाड़ी की बिल्ली)

बच्चों, सहकार रेडियो के कार्यक्रम  “बाल चौपाल” में आज सुनिए एड यंग द्वारा लिखित और विदूषक जी द्वारा अनूदित कहानी भूखी-पहाड़ी की बिल्ली| इसे अपनी आवाज़ दी है जयपुर राजस्थान से सुनीता जी ने | आपको ये कार्यक्रम कैसा लगा हमें ज़रूर बताइयेगा| ये कार्यक्रम सहकर रेडियो से लिया गया है | इस कार्यक्रम 08050068000 पर मिस्ड कॉल कर सुन सकते हैं |    

Posted on: Jul 15, 2020. Tags: BAL CHAUPAL SAHKAR RADIO

सीता मांग रही वर्दान मंदिर में ठाढ़े ठाढ़े....बघेली भाषा में भजन गीत-

ग्राम-उन्हारी, बहनी दरबार जिला-रीवा (मध्यप्रदेश) से अकलेश कुमारी के साथ रीनू कुमारी आज हमारे श्रोताओं को एक भजन सुना रहे है:
सीता मांग रही वर्दान मंदिर में ठाढ़े ठाढ़े-
सीता मांग रही वर्दान मंदिर में ठाढ़े ठाढ़े-
जो दशरत पिता तुम्हारी वो लगन ससुर हमारी-
मिलकर पैर छुअत धन दे रे मंदिर में ठाढ़े ठाढ़े-
सीता मांग रही वर्दान मंदिर में ठाढ़े ठाढ़े CS

Posted on: Jul 09, 2020. Tags: AKLESHKUMARI BGHELI SONG RINUKUMARI JAWA RIWA MP

« View Newer Reports

View Older Reports »