गर्व है मुझे मैं नारी हूँ, गर्व है मुझे मैं नारी हूँ...पंक्तियाँ-

ग्राम-नवलपुर, ब्लाक-लोरमी, जिला-मुंगेली छत्तीसगढ़ से संध्या नेताम महिलाओ पर आधारित कुछ पंक्तियाँ सुना रही है:
गर्व है मुझे मैं नारी हूँ, गर्व है मुझे मैं नारी हूँ-
तोडके हर पिंजरा जाने कब मैं उड़ जाउंगी-
चाहे लाक बिचालो बंदिशे-
फिर भी दूर आसमान में अपनी जगह बनाउंगी-
गर्व है मुझे मैं नारी हूँ, गर्व है मुझे मैं नारी हूँ...

Posted on: Jul 03, 2020. Tags: HINDI LINE MUNGELI CG SANDHIYA NETAM