लालागुड़ा से मितानिन सुमानी दीदी से उनके काम के बारे में एक चर्चा...

राउतपारा, ग्राम पंचयत- लालागुडा, ब्लाक- बास्तानार, जिला- बस्तर (छतीसगढ़) से मितानिन सुमानी दीदी अपने काम के बारे में बता रही हैं। पारा में जो भी बीमार पड़ते हैं, उन्हें घर में ही दवाई देने जाते हैं। वे महिलाओं को डिलवरी के लिए हॉस्पिटल पहुंचाते हैं और ग्रामीणों को सफाई से रहने की राय देते हैं।

Posted on: Oct 04, 2021. Tags: BASTANAR BASTAR CG HEALTH WORKER LALAGUDA MITANIN SUMANI

गांव में 7 साल से मितानिन नहीं हैं, बच्चों और महिलाओं के लिए गंभीर समस्या है, कृपया मदद करें...

लोहरापारा, ग्राम पंचायत-आलवा, ब्लाक-दर्भा, जिला-बस्तर (छतीसगढ़) से जमुना कश्यप बता रही हैं कि उनके गांव में 7 साल से मितानिन ना होने के कारण छोटे बच्चों और महिलाओं को बीमारी होने पे दिक्कत होती है। पूर्व मितानिन शादी के बाद गांव छोड़ कर चली गई। गर्भवती महिलाओं को स्वास्थ्य केंद्र ले जाने के लिए 5 किलोमीटर दूर जाना पड़ता है, जिससे उन्हें तकलीफ होती है। स्वास्थ्य विभाग को आवेदन दे चुके है पर आदेश नहीं आया है। सभी ग्रामीण चाहते हैं कि एक मितानिन का चयन हो। सीजीनेट के साथियों से निवेदन कर रहे हैं कि दिए गए नंबरों में बात कर समस्या हल कराने में मदद करें। सम्पर्क नंबर@ पीड़ित व्यक्ति-7999835694, स्वास्थ्य विभाग-9425596184.

Posted on: Sep 17, 2021. Tags: ALWA BASTAR CG DARBHA HEALTH WORKER JAMUNA KASHYAP MITANIN PROBLEM

नक्सलियों की धमकी, सहकर्मी की हत्या और मोटरसाइकिल पे डेलीवेरी... अबूझमाड़ में स्वास्थकर्मी का जीवन

ग्राम पंचायत- थुलथुली, जो की ब्लाक मुख्यालय ओरछा से 20 किमी अंदर अबूझमाड़ में है, जिला- नारायणपुर (छत्तीसगढ़) से आयतुराम मंडावी जी बता रहे है पिछले 5 साल से मितनिन प्रशिक्षक के रूप में कार्यरत हैं। उनके गांव व काम में कई तरह की परेशानियों आती हैं। वे कहते हैं वहाँ बारिश के समय मोटरसायकल नहीं जा पाती। नाला पार करने के लिए लोग अपनी सायकल कंधे पे उठा कर ले जाते हैं। यहाँ के लोग सरकार की सारी योजनाओं से वंचित हैं। इन्हें लोगों को स्वास्थ सेवा देने के लिए माओवादियों की धमकी और मुखबिरी का आरोप झेलना पड़ता है। उनके सहकर्मी, हंदावाड़ा के मितनिन प्रशिक्षक संतोष लेखामी की उनकी पोलिओ ड्यूटी के समय माओवादियों ने मुखबीर बता कर हत्या कर दी। गाँववाले उनके पास इलाज के लिए आते हैं। उनके पास दस्त, निमोनिया, मलरिया जैसी बीमारियों की दवा रहती है। गर्भवती महिलाओं की डेलीवेरी में बहुत दिक्कत आती है। वे बताते हैं कि एक महिला जो की प्रसव पीड़ा में थीं, उन्हें अस्पताल ले जाते समय मोटरसाइकिल पे ही उनकी डेलीवेरी करनी पड़ी। आधिक जानकारी लेने के लिए संपर्क- 9479104729, 9406299466.

Posted on: Sep 15, 2021. Tags: AAYTURAM MANDAVI ABUJHMAAD CG DELIVERY HEALTH WORKER NARAYANPUR ORCHHA THULTHULI

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »


YouTube Channel




Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download