दर्गा धडी ने ताकुन तुके ऐसे इसे मत मित चो...हल्बी गीत-

खिरेन्द्र यादव जिला-कोंडागांव(छत्तीसगढ़) से हल्बी गीत सुना रहें है:
धुड्गा धडी ने ताकुन तुके ऐसे इसे मत मित चो-
खल खल ढोडी बोहे दे, गोठ गोठी अमा मंचो...

Posted on: Oct 12, 2020. Tags: BASTAR HALBI SONG

बस्तर में किसी प्रकार की कोई हिंसा नही चाहते हैं, हम लोग हिंसा से आजादी चाहते हैं...

ग्राम पंचायत जामगांव जिला बस्तर छत्तीसगढ़ से मुन्ना लाल बोल रहा हूँ, बस्तर मांगे हिंसा से आजादी जनमत सर्वेक्षण पर अपनी विचार बता रहें है, पिछले 40 साल से हो रहीं हिंसा से और अब हिंसा में विराम चाहते है, किसी प्रकार कोई हिंसा बस्तर में नही चाहिए धन्यवाद..RK

Posted on: Sep 21, 2020. Tags: PEACE SURVEY HALBI 3

हम बस्तर के लोगो को जागरूक होकर दोनों पक्षों से बात करके हिंसा को रोका जा सकता है...हल्बी में

विकासखंड-तोकापाल, जिला-बस्तर छत्तीसगढ़ से कमलेश कश्यप बस्तर मांगे हिंसा से आजादी को लेकर अपने विचार व्यक्त कर रहे है हल्बी में बोल रहे है कि बस्तर में हर व्यक्ति को जागरूक होना पड़ेगा और जो हिंसा हो रही है इसके बारे में जानकारी लेना पड़ेगा और हमे दोनों पक्षों से बात करना पड़ेगा तभी हिंसा ख़तम हो सकती है | कमलेश कश्यप@8319532586.

Posted on: Sep 19, 2020. Tags: PEACE SURVEY HALBI 3

हा हा हांड़ी पक्का गेली से...हल्बी गीत-

ग्राम पंचायत-बाघनपान के आश्रित मोहल्ला तुरेमोरका मालगुजार पारा ब्लाक-लोहंडीगुडा, जिला-बस्तर (छत्तीसगढ़) से जागेश्वर परस्ते और उनके साथ हैं ग्रामीण महिलाएं जो हल्बी में एक गेट सुना रहीं हैं-
हा हा हांड़ी पक्का गेली से-
अमिचु दीदी जुड़-जुड़ हरिक लागी से-
बस्तरो चो कहानी रिरपी भूले से-
कारी नाव दगा मारी जाओ कारी घाटीअमर वे-
मन पावले से दान्तोले से-
नाइ घूपी कोरा बानी ओकना जोरे से...RK

Posted on: Sep 15, 2020. Tags: BASTAR HALBI SONG

खेलतों दिन आगे बाबू तरी-वरी से...बस्तर हल्बी गीत-

ग्राम पंचायत-अल्वा, पटेलपारा ब्लाक-दरभा, जिला-बस्तर (छत्तीसगढ़) से रमणी बाई हल्बी में एक गीत सुना रहीं हैं-
खेलतों दिन आगे बाबू तरी-वरी से-
सड़ी पाके सड़ी सुके से-
अमचों बाबू मोटू का-
सबाल का सवारी से खेलेक से-
काय रे दोनी बोलसा बाबू तरी-वरी से-
सड़ी पाके सड़ी सुके से...RK

Posted on: Sep 13, 2020. Tags: BASTAR HALBI SONG

« View Newer Reports

View Older Reports »