अवैध रूप से सरपंच सचिव के मिलीभगत से क्रेशर संचालित किया जा रहा है...कृपया मदद करें-

ग्राम-मेढ़ाखार, पोस्ट-करपा, तहसील-पुष्पराजगढ़, जिला-अनूपपुर (मध्यप्रदेश) से घनश्याम सिंग बता रहा हैं, गाँव में 2 क्रेशर मशीन संचालित है, अब तीसरे क्रेशर मशीन संचालित करने की कोशिश किया जा रहा है, गाँव वालो की उसमे कोई सहमति नही है, क्रेशर लगने से पशुओं का चारागाह ख़त्म हो जायेगा, 15 अगस्त 2017 को ग्रामसभा की बैठक में यह फैसला लिया गया कि उस भूमि को किसी प्रकार की खनिज दोहन या लीज पर नही दिया जायेगा, लेकिन सरपंच, सचिव के माध्यम से बिना ग्रामसभा के जबरदस्ती यह प्रस्ताव पारित किया गया है, इस विषय पर जानकारी कमिशनर ऑफिस शहडोल, जिला अधिकारी अनूपपुर, वनविभाग पुष्पराजगढ़ को है, लेकिन कोई निराकरण नही हो रहा है इसलिये वे सीजीनेट के साथियों से मदद की अपील कर रहे हैं : कलेक्टर@07359222400, सचिव@9479832683. संपर्क नंबर@8989880920.

Posted on: Sep 19, 2019. Tags: ANUPPUR GHANSHYAM SINGH MP PROBLEM SONG VICTIMS REGISTER

नीमिया पतइया झरि जाला, अंगनवां कइसे बहारूं जी...विवाह गीत

ग्राम-संतोषी नगर, जिला-बलरामपुर, छत्तीसगढ़ से कुछ छात्राएं एक गीत प्रस्तुत कर रही हैं, गीत का सन्दर्भ यह है कि घर में नई-नवेली बहू नीम के पत्तों, कचरों से अनुरोध करती है कि जेठजी सामने बैठे हैं कृपया आँगन में मत आओ, मुझे बहारने में दिक्कत होगी:
नीमिया पतइया झरि जाला, अंगनवां कइसे बहारूं जी-
ओहि रे अंगनवां में ससुरजी के डेरा-
घुंघटा कढ़त दिन जाला, अंगनवां कइसे बहारूं जी-
ओहि रे अंगनवां में भसुरजी के डेरा-
घुंघटा कढ़त दिन जाला, अंगनवां कइसे बहारूं जी...

Posted on: May 15, 2018. Tags: GHANSHYAM MARSAKOLE SONG VICTIMS REGISTER

मड़वा बइठले पापा जंघिया अंजन पापा थरथर कांपल हे... सरगुजिया विवाह गीत

ग्राम-बलोर, जिला-बलरामपुर, छत्तीसगढ़ से एक ग्रामीण महिला सरगुजिया भाषा में एक गीत प्रस्तुत कर रही हैं, यह गीत विवाह के समय गाया जाता है:
मड़वा बइठले पापा जंघिया अंजन पापा थरथर कांपल हे-
हथवा लगावल दुलहा अनजान दुलहा अवदा निहामण हे-
धीरे रहु हे बाबू धीरे रहु और गम्भीरे रहु ना-
जब पापा कुशल संकल जन करिहें तब गनिराउर हे-
मड़वा बइठले पापा जंघिया अंजन बेटी थरथर कांपल हे...

Posted on: Apr 30, 2018. Tags: GHANSHYAM MARSAKOLE SONG VICTIMS REGISTER

आना मेरे गाँव तुम्हें मैं दूंगी फूल कनेर के...गीत

ग्राम पंचायत- चित विश्रामपुर, जिला-बलरामपुर, छत्तीसगढ़ से एक छात्र सुनील सिंह एक गीत प्रस्तुत कर रहे हैं:
आना मेरे गाँव तुम्हें मैं दूंगी फूल कनेर के-
कुछ कच्चे कुछ पक्के घर एक साल पुरान के-
सड़क बनेगी सुनती हूं इनका नंबर साल है-
चकते आन टीड़े ऊपर कई पेड़ हैं बेर के-
आना मेरे गाँव तुम्हें मैं दूंगी फूल कनेर के...

Posted on: Apr 30, 2018. Tags: GHANSHYAM MARSKOLE SONG VICTIMS REGISTER

केसवा मधवा सिखा नाव तोरे गोडवा...मराठी किसान गीत-

ग्राम-सालभट्टी, विकासखण्ड-मानपुर, जिला-राजनांदगांव (छत्तीसगढ़) से कृष्णा देशमुख एक मराठी गीत सुना रहे हैं, किसानों द्वारा खेती करते समय ये गीत गाया जाता है:
केसवा मधवा सिखा नाव तोरे गोडवा-
पूजा सडका तू जे देवा...

Posted on: Apr 15, 2017. Tags: GHANSHYAM MARSAKOLE SONG VICTIMS REGISTER

View Older Reports »