खरगोश और लोमड़ी की...कहानी

ग्राम मसूरी, जिला-चित्रकूट (उत्तर प्रदेश) से गुरु प्रसाद एक कहानी सुना रहे हैं:
एक लोमड़ी थी उसे बहुत भूख लगी थी| लोमड़ी ने अंगूर देखा और उसे खाकर अपना भूख मिटाऊँ| यह सोचकर लोमड़ी बाग में गई और जोर से छलांग लगई ताकि अंगूरों तक पहुच सके, वह धड़ाम से निचे जा गीरी| लोमड़ी को बहुत शर्म आई फिर लोमड़ी चुप-चाप वहां से चली गयी| एक खरगोश सब कुछ देख रहा था| खरगोश ने लोमड़ी को बोला क्यू अंगूर नही खाओगी लोमड़ी ने बोली| मैंने सुना है की अंगूर बहुत खट्टे होते हैं|

Posted on: Feb 28, 2021. Tags: CHITRAKOOT GURUPAPRSAD STORY UP