हे जू वन ही के मारि निशाचर अवधपुर लौटि आउब...बेलनहाई विवाह गीत

ग्राम-छपरिहा, जिला-रीवां, मध्यप्रदेश से गुड़िया देवी आदिवासी एक बेलनहाई गीत प्रस्तुत कर रही हैं, यह गीत शादी समय गाया जाता है:
हे जू वन ही के मारि निशाचर अवधपुर लौटि आउब-
हे जू इरि-फिरि निहारइ दीनानाथ कि आजी मोरी रोवत खड़ी-
हे जू आजा से किहे प्राणनाम की आजी मोरी धीरज धरौ-
हे जू बाबुल से किहौं प्राणनाम कि माया मोरी धीरज धरौ-
हे जू इरि-फिरि निहारें दीनानाथ कि चाची मोरी रोवत खड़ी-
हे जू चाचा से किहौं प्राणनाम कि चाची मोरी धीरज धरौ...

Posted on: Mar 17, 2016. Tags: GUDIYA DEVI ADIVASI

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download