वनांचल स्वर : भुईनीम के पत्ते से मलेरिया बुखार का उपचार -

ग्राम-डेढ़खोह्का, ब्लाक-चारामा, जिला-कांकेर (छत्तीसगढ़) से गिरधारीलाल कोडोपी (भूतपूर्व सरपंच) मलेरिया के घरेलू उपचार के बारे में जानकारी दे रहे है वे बता रहे हैं भुईनीम जो जंगल में मिलता है उसको लाकर सुखाकर पीसकर पानी में उबालकर उसको दो-तीन घूँट को दो-तीन दिन तक पिलाना है उसके बाद मलेरिया ठीक हो जाता है इसको बच्चो को भी पिला सकते है इसका खुराक 3-4 चम्मच लेना है क्योंकि बहुत कडवा होता है| उसको पिलाने के बाद छोटे बच्चो को गुड खिला देना है| इसका पौधा गोंदा के पत्ते के जैसा होता है, इस तरह हमारे आसपास जंगल में ऐसी अनेक उपयोगी वनस्पतियाँ मिलती हैं . बाबूलाल नेटी@8602007333.

Posted on: Jan 17, 2018. Tags: GIRDHARILAL KODOPI VANANCHAL SWARA