आपका स्वास्थ्य आपके मोबाईल में : श्वेत प्रदर या पानी की बीमारी का इलाज -

सीजीनेट जन पत्रकारिता यात्रा आज ग्राम पंचायत-गोटुलमुंडा, पोस्ट- तरई घुटिया, ब्लाक-दुर्गुकोंदल, जिला-उत्तर बस्तर कांकेर (छत्तीसगढ़) में पहुँची है वहां बाबूलाल नेटी की मुलाक़ात गाँव के वैद्य राज घंसूराम टेकाम जी से हुई है जो आज उन्हें महिलाओं को आम होने वाले बीमारी श्वेत प्रदर या पानी का स्थानीय जड़ी बूटी से इलाज बता रहे हैं. वे बता रहे हैं कि आंवला, हर्रा, बहेरा इन तीनो को 15-20 की संख्या में लेकर कूट लेना चाहिए और दही के सांथ मिलाकर रात भर रख देना चाहिए दवा को तीन खुराक बनाकर खाली पेट में रोज सुबह 3 दिन सेवन करने से श्वेत पानी की समस्या से राहत मिल सकता है | वे यह दवा बहुत लोगों को दे चुके हैं और इसमें फायदा होता है

Posted on: Dec 19, 2017. Tags: GHANSURAM TEKAM