5.6.31 Welcome to CGNet Swara

Impact: We don't need to walk 2 kilometers to fetch water any more, Thanks...

Ganesh Singh Ayam is reporting from Dhangawan village in Anuppur district of MP where he is joined by Shankar Kol and Dhannu Lal Kol who are rejoiced to inform that the hand pump in their village had been repaired within a month after sending their grievance message to CGNet Swara. And now the entire locality is happy as they need not to travel 2 kilometers to fetch drinking water. They thanks all CGNet Swara listeners for calling officers to put pressure. Ayam@7224049832

Posted on: Jan 27, 2018. Tags: GANESH AYAM WATER

Impact: Work on our broken road started a month after report on CGnet, thanks...

Dhannu and Shankar Lal Kol of village Dhangawan in Anuppur district of Madhya Pradesh had recorded their message regarding a road problem in CGNet after their plea was not heard by local officers for long. After CGnet report their prayer was answered and within a month work was started on bettering the road condition. This three kilometer road will now be a pitch road. They want to thank all the CGNet Swara listeners for their calls to officers to put pressure on them. Ganesh Ayam@7224049832.

Posted on: Jan 25, 2018. Tags: GANESH AYAM ROAD

लाल टमाटर खायेंगे लाल हो जायेंगे...बाल कविता -

ग्राम-भाडाटोला, विकासखंड-चारामा, जिला-कांकेर (छत्तीसगढ़) से रिंकी बघेल और उनके साथी एक बाल कविता सुना रहे हैं :
लाल टमाटर खायेंगे लाल हो जायेंगे-
बस के नीचे केला मामा जी का मेला-
मेले में जायेंगे आंटी को बुलायेंगे-
वो मेरी आंटी बज गई घंटी...

Posted on: Dec 30, 2017. Tags: GANESH AYAM

वनांचल स्वर: लाख जिससे चूड़ी और कांच बनता है उसे हम जंगल से लाकर बाज़ार में बेचते हैं...

सीजीनेट जन पत्रकारिता यात्रा आज ब्लाक-दुर्गकोंदल जिला-उत्तर बस्तर कांकेर (छत्तीसगढ़) के दुर्गूकोंदल बाज़ार में है वहां से गणेश सिंह आयाम के साथ में वहां के एक बुज़ुर्ग रिदुराम जी हैं वे बता रहे है कि उनके पास लाख है उसको जंगल से तोड़कर लाये है और उसका कांच और चूड़ी बनता है और यह कोशुम के पेड़ में पाया जाता है वे लोग 190 रूपये में गाँव के लोगों से लेते है और बाजार में 192-193 में बेचते है बता रहे है और लाख सिर्फ ठंड के मौसम में ही मिलता है |इसे ग्रामीणों द्वारा कुसुम के पेड़ पर लगाया जाता है और उसे तोड़कर ठण्ड के मौसम बेचते है वे बोल रहे है कि आप लोग भी लाख लगाइए और उसका फायदा उठाएगा. गणेश आयाम@9754186921.

Posted on: Dec 09, 2017. Tags: GANESH AYAM

छोटे-छोटे कदम हमारे आगे बढ़ते जायेंगे...कविता -

ग्राम-खोदापाका, तहसील-दुर्गकोंदल, जिला-उत्तर बस्तर कांकेर (छत्तीसगढ़) से भूपेश्वरी एक कविता सुना रही है:
छोटे-छोटे कदम हमारे आगे बढ़ते जायेंगे-
पढना कभी न छोड़ेंगे हर दिन पढने जायेंगे-
छोटे-छोटे हाथ हमारे गड्डे खूब बढ़ायेंगे-
इन गड्डो में अति सुन्दर पौधे खूब लगायेंगे-
घर आँगन में साफ़ रखेंगे गलियां साफ़ बनायेंगे-
कैसे जीना हमे चाहिए जीकर हम दिखलायेंगे...

Posted on: Dec 08, 2017. Tags: GANESH AYAM

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download


From our supporters »