स्वास्थ्य स्वर : धनिया के आयुर्वेदिक गुण और उपयोग-

भिलाई (छत्तीसगढ़) से वैद्य गणेश पांडे धनिया पत्ती के आयुर्वेदिक गुणों के बारे में बता रहे हैं| धनिया पत्ती की चटनी का सेवन करने से गले की समस्या में लाभ मिल सकता है| दूसरा शरीर में इसका लेप करने से त्वचा संबंधी समस्या में आराम मिल सकता है| तीसरा धनिया के बीज का पाउडर तीन चम्मच आधे गिलास पानी में उबाले जब वह एक कप बचे तो उसे छानकर ठण्डा कर लें| उसके बाद सुबह-शाम खाली पेट सेवन करें| इससे थायराइड और ब्लड प्रेशर में आराम मिल सकता है| साथ ही रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है : गणेश पांडे@9691313813.

Posted on: Mar 26, 2019. Tags: BHILAI CG GANESH PANDE HEALTH

स्वास्थ्य स्वर : दालचीनी के उपयोग और लाभ-

भिलाई (छत्तीसगढ़) से वैद्य गणेश पांडे दालचीनी के उपयोग और लाभ को बता रहे हैं| दालचीनी का पाउडर दिन में दो बार दो-दो चुटकी खाली पेट एक चम्मच शहद के साथ सेवन करें| इससे पेट, ह्रदय, ब्लड प्रेशर संबंधी परेशानियों में लाभ हो सकता है| इस दवा का सेवन करने के बाद गर्म पानी का सेवन कर सकते हैं| भोजन में मैदा से बनी चीजों से परहेज करें| अधिक जानकारी के लिये दिये गये नंबरों पर संपर्क कर सकते हैं | गणेश पांडे@9691313813.

Posted on: Mar 26, 2019. Tags: BHILAI CG GANESH PANDE HEALTH

स्वास्थ्य स्वास्थ्य : शुगर की समस्या का घरेलू उपचार-

भिलाई (छत्तीसगढ़) से गणेश पांडे बता रहे हैं कि वर्तमान समय में हमारा रहन-सहन, खान पान दूषित हो चुका है| जिससे तरह-तरह की बीमारियां हो रही हैं| आज सुगर एक महामारी के रूप में हमारे सामने है| अक्सर देखा गया है| जिसकी पाचन क्रिया ठीक नहीं होती है, उन्हें ये समस्या होती है| तो उसके लिये मेथी दाना उपयोगी है| एक चम्मच मेथी दाना सुबह खाली पेट गुनगुने या सादे पानी से सेवन करना है| दूसरा मेथी को रात में कांच के बर्तन में पानी में भिगोकर रख दे और सुबह खाली पेट सेवन करें| इससे लाभ हो सकता है| दवा का उपयोग करने से पूर्व दिये गये नंबर पर संपर्क कर पूरी जानकारी ले: गणेश पांडे@9691313813.

Posted on: Mar 24, 2019. Tags: BHILAI CG GANESH PANDE HEALTH

स्वास्थ्य स्वर : वात रोग का घरेलू उपचार-

भिलाई (छत्तीसगढ़) से वैद्य गणेश पांडे वात रोग का घरेलू उपचार बता रहे हैं| आयुर्वेद में वात रोग के 80 प्रकार बताये गए हैं | जैसे संधी वात, गठिया वात अदि| वात रोग को बाधिका शरीर के नाम से भी जाना जाता है| बादल आने पर या सुबह के समय जब मौसम ठण्डा होता है, तब वात का प्रकोप होता है| अर्थात शरीर के जोड़ो में, गांठ में दर्द होता है| एसी स्थिती में-
1. खड़ी मेथी, खड़ी अजवाईन, पीसी हुई हल्दी और पीसी सोंठ सुखाकर चारो को बराबर मात्रा में एक-एक चुटकी सुबह-शाम खाली पेट सेवन करना है| उसके बाद एक कप गर्म पानी पियें इससे लाभ हो सकता है|
2. कच्चा जीरा को पीस कर खाली पेट गर्म पानी के सांथ सुबह-शाम सेवन करने से शरीर में होने वाली दर्द और सूजन से आराम मिल सकता है| वैद्य गणेश पांडे@9691313813.

Posted on: Mar 23, 2019. Tags: BHILAI CG GANESH PANDE HEALTH

तीन पीढियों से वैद्य का काम कर रहे हैं और नि:शुल्क पारंपरिक चिकित्सा सेवाएं देते हैं...

भिलाई (छत्तीसगढ़) से वैद्य गणेश पांडे बता रहे हैं| एक अंतरराष्ट्रीय नाड़ी वैद्य है| तीन पीढियों से वैद्य का काम कर रहे हैं| वे निःशुल्क नाड़ी परिक्षण एवं घरेलू नुस्खा को लेकर स्कूल, कालेज, कांफ्रेंस, शिविर आदि में लोगों को जागरूक करते हैं| घरेलू नुस्खे अर्थात घरो में आसानी से उपलब्ध चीजों से बीमारियों को ठीक करने के नुस्खे| उन्होंने रसोई घर को मेडिकल स्टोर कहा है, अर्थात रसोई घर में उपलब्ध मसाले खाने की चीजों से उपचार| वे पारंपरिक चिकित्सा को लेकर विदेशो में भी जागरूकता कार्यक्रम में शामिल होते हैं|
लकवा बीमारी के लिये घरेलू नुस्खा :
एक-एक कली लहसुन कुचलकर या चबाकर खाली पेट सेवन करें| उसके बाद तीली का तेल तीन चम्मच गर्म कर ले और ठण्डा करने बाद सेवन करें| खाने में गरिष्ठ भोजन, खटाई, बैगन, शक्कर का सेवन न करें | अधिक जानकारी के लिये संपर्क कर सकते हैं : गणेश पांडे@9691313813.

Posted on: Mar 22, 2019. Tags: BHILAI CG GANESH PANDE HEATH

« View Newer Reports

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download