शीश मुकुट और कानन कुंडल...गीत-

अलीगढ़, उत्तर प्रदेश से गजेंद्र कुमार एक गीत सुना रहे हैं:
शीश मुकुट और कानन कुंडल-
बंसी करमन रंग सूरत धरे-
वन वन ढूढन जाओ-
शीश मुकुट और कानन कुंडल-
बंसी करमन रंग सूरत धरे-
वन वन ढूढन जाओ... (AR)

Posted on: Jul 05, 2020. Tags: ALIGARH GAJENDRA KUMAR SONG UP

इतना टूटा हूँ कि छूने से बिखर जाऊँगा...गजल गीत-

जिला-अलीगढ उत्तरप्रदेश से गजेन्द्र कुमार जगजीत सिंह की एक गजल सुना रहे है, वे म्यूजिशियन भी है अगर कोई साथी म्यूजिक सीखना चाहते है तो वे निशुल्क सीखाएँगे :
इतना टूटा हूँ कि छूने से बिखर जाऊँगा-
अब अगर और दुआ दोगी तो मर जाऊँगा-
इतना टूटा हु कि छूने से बिखर जाऊँगा...

Posted on: Jul 02, 2020. Tags: ALIGARH UP GAJENDRA KUMAR HINDI SONG

ओ झीना झीना झीना रे उड़ा गुलाल...गीत-

गजेंद्र कुमार भोजका, अलीगढ (उत्तर प्रदेश) से एक गीत सुना रहे हैं:
ओ झीना झीना झीना रे उड़ा गुलाल-
माई तेरी चुनरिया लहराई-
झीना झीना झीना रे उड़ा गुलाल-
माई तेरी चुनरिया लहराई-
रंग तेरी रीत का रंग तेरी प्रीत का-
रंग तेरी जीत का है लायी लायी लायी-
रंग तेरी रीत का रंग तेरी प्रीत का... (AR)

Posted on: Jun 19, 2020. Tags: CG GAJENDRA KUMAR SONG SURAJPUR