स्वास्थ्य स्वर : लगातार आने वाले बुखार का घरेलू नुस्खा-

ग्राम-घोंघा, थाना-बोडला, जिला-कबीरधाम (छत्तीसगढ़) से भगतराम लांझी लगातार होने वाले बुखार का एक घरेलू उपचार बता रहे हैं, एक मुट्टी तुलसी और सूर्यमुखी का पत्ता 2 नग दोनों को पीस लें, उसके बाद मिट्टी के बर्तन में पकाएं, पकाने के बाद उसे दो बार छान लें और एक-एक कप मिश्री के सांथ दिन में तीन बार सेवन करें, इसके अलावा पीपल, तुलसी का पत्ता और मधुरस तीनो को मिलाकर गर्म कर थोड़ा-थोडा दिन के तीन से चार बार चाटने से बुखार में आराम मिल सकता है | भगतराम लांझी@7389964276.

Posted on: Sep 26, 2018. Tags: BHAGATRAM LANJHI CG FEVER HEALTH KABIRDHAM SWARA SWASTHYA

स्वास्थ्य स्वर : गिलोय के पौधे से सर्दी जुकाम और वायरल फीवर का घरेलू उपचार-

सेतगंगा, जिला-मुंगेली (छतीसगढ़) से वैद्य रमाकांत सोनी गिलोय से सर्दी जुकाम, वायरल इन्फेक्सन या बुखार का घरेलू उपचार बता रहे हैं, जो व्यक्ति ऐसी समस्या से पीड़ित हैं, वे गिलोय का 4 इंच टुकड़ा लेकर उबालकर छानकर उसका रस पी सकते हैं, या दातून की तरह चबाकर रस चूस सकते हैं, इससे लाभ मिल सकता है, इसका प्रयोग सुबह के समय करना चाहिए, संबंधित अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए इस नंबर पर संपर्क कर सकते हैं : वैद्य रमाकांत सोनी@9589906028.

Posted on: Sep 20, 2018. Tags: CG FEVER HEALTH MUNGELI RAMAKANT SONI SWASTHYA SWARA