आदिवासियों का पारंपरिक त्यौहार मुसियालामा-

चट्टी, जिला-ईस्ट गोदावरी (आंध्रप्रदेश) से अशोक आदिवासियों के एक त्यौहार के बारे में बता रहे हैं| मुसियालामा आदिवासियों का एक त्यौहार है| मुसियालामा एक तेलगू शब्द है| यह हर तीन साल में एक बार मनाया जाता है| जिसमे सभी शामिल होते हैं| गीत गाते है, और अपने त्यौहार को मनाते है|

Posted on: Jun 02, 2019. Tags: ANDHRA PRADESH BHAN SAHU EAST GODAVARI FESTIVAL

बीजा पंडुम आदिवासियों का पारंपरिक त्योहार है, ये गर्मी के समय मनाया जाता है-

ग्राम-एर्राबोर, विकासखण्ड-पालवेंचा, जिला-भद्रादी कोठागुडेम (तेलंगाना) से विजय अपने गांव में मनाये जा रहे बीजा पंडुम त्योहार के बारे में बता रहे हैं| बीजा पंडुम त्यौहार को बीज का त्योहार बोलते हैं| ये त्योहार गर्मी के समय मनाया जाता है| त्योहार में वाद्य यंत्र का उपयोग करते हैं| जिससे पूजा के समय आवाज निकाला जाता है| उस यंत्र को भैसाड़ी कहा जाता है| उस समय हल्ला करते हैं| अपने देवी देवतओं के पास जाते हैं| हाथ में चावल और पानी लेकर, सभी मिलकर भोजन बनाते और खाते हैं|

Posted on: Jun 01, 2019. Tags: BHADRADI KOTHAGUDAM FESTIVAL TELANGANA VIJAY

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download