यदि आजादी का निरंतर दुरूपयोग करते रहे तो आगे आने वाली पीढ़ी के लिए हम कुछ छोड़कर नहीं जाएंगे...

दिल्ली से राजेश कुमार पाठक, आज विश्व पर्यावरण दिवस है उसके बारे में जानकारी दे रहे है और बोल रहे है कि आज हमारा पर्यावरण कहाँ जा रहा है उसके लिए हमे चिंतन करने की जरुरत है | हम सब ने पशु पक्षियों की जमीने छीन ली | आदिवासियों की जमीने दिनों दिन छीनते जा रहे है हमारी जो पुरातन परम्पराए है वो अंधाधुंध औद्योगीकरण के कारण लुप्त होते जा रहा है और तो और हम लोग मूक जानवरों को चारा फल खिलाने के बजाय  विस्फोटक सामग्री खिला रहे है, इस पर सोचने की जरूरत है | यदि आजादी का निरंतर दुरूपयोग करते रहे तो वो दिन दूर नहीं है जो आगे आने वाली पीडी है उसके लिए हम कुछ छोड़कर नहीं जायेंगे | हमारी पीडी एकदम दुर्गमता पूर्वक जीवन जीने के लिए विवश हो जाएगी  इसलिए सीजीनेट के माध्यम से लोगो से निवेदन कर रहे है कि आइये और अपने पर्यावरण को बचाइए | संपर्क नम्बर@9350166110

Posted on: Jun 05, 2020. Tags: DELHI ENVIRONMENT DAY RAJESH PATHAK