अपनों बुन्देलखंड न्यारो, हमें लगे प्रानन से प्यारो...बुन्देलखंडी गीत

ग्राम-चोरटानगा, जिला-टीकमगढ़, मध्यप्रदेश से दशरथ प्रसाद रजक बुन्देली भाषा में एक गीत के माध्यम से बुंदेलखंड का महिमा-मंडन कर रहे हैं:
कि अपनों बुन्देलखंड न्यारो, हमें लगे प्रानन से प्यारो-
बैठे कुंडेश्वर में साक्षात शंकर, राम राजा बैठे हैं ओरछा के मंदर-
दर्शन कर संकट खा टारो, हमें लगे प्रानन से प्यारो-
लड़ गई अंग्रेजन से झाँसी की रानी, देहों ना तिलभर जमीन मन में जा ठानी-
नाम करो जग में उजियारो, हमें लगे प्रानन से प्यारो-
लाला हरदौल भये सत्य के पुजारी, सत्य पे न आंच आए ऐसे विचारी-
विष दे के भइया ने मारो, हमें लगे प्रानन से प्यारो...

Posted on: Sep 14, 2015. Tags: Dasharath Rajak

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download