मांग-मांग रहे बीगा भर नइया जमीन, मांग-मांग रहे...दहेज़ विरोधी गीत

टीकमगढ़, मध्यप्रदेश से दशरथ प्रसाद दहेज़ के सन्दर्भ में गीत प्रस्तुत कर रहे हैं:
मांग-मांग रहे बीगा भर नइया जमीन, मांग-मांग रहे-
लड़का हे बिना पढो घर ना मकान-
घर ना मकान झूठी बना रे शान, तैस ऐसी रहे ठान-
गाड़ी चान सी डी डॉन मांग-मांग रहे-
गाड़ी और एक लाख देहो पक्यात-
देहो पक्कायात तो फिर हमरी पक्की बात-
तुमही उठाना बारात, फ्रीज-कूलर भी साथ मांग-मांग रहे-
कि सोफा अलमारी और सिलाई मशीन-
सिलाई मशीन डबल बेड होबे हसीन-
टीवी चैनल रंगीन, मांग-मांग रहे...

Posted on: Sep 27, 2015. Tags: Dasharath Prasad