सीवेन ये रोड़ो दादा आनगो एरो...धुर्वा गीत-

ग्राम-बुडगीभाटा, पंचायत-चितापुर, ब्लाक-दरभा, जिला-बस्तर छत्तीसगढ़ से राजू राणा के साथ गाँव के साथी लचुंदर एक धुर्वा गीत सुना रहे है:
सीवेन ये रोड़ो दादा आनगो एरो-
सिन्धुगाड़ियल पापिन दादा कोरी-
पापिन नेके वो चितापुर ता लड़ली दादा...

Posted on: Aug 23, 2020. Tags: BLOCK DARBHA SONG

हम पहले रासायनिक खाद्य डालते थे,अब नहीं डालते, नमी बनी रहती है...

ग्राम-केशवपुर ब्लॉक्-दरभा जिला-बस्तर (छत्तीसगढ़ )से श्री मोहन नाग खेती के बारे में बता रहे हैं इनके पास लगभग 2 एकड़ जमीन है अभी धान कि खेती करेंगे कुच्छ बीज खरीदकर बोते हैं कुच्छ पुराने बीज बोते है पहले रासायनिक खाद्य डालते थे तो खेत को टाईट कर देता था जिसके कारण अब नहीं डालते अब 2 वर्ष से जैविक खाद्य डालते हैं तो खेत में नमी बनी रहती है इनके परिवार में 5 सदस्य हैं किसानी के अलावा कोई दूसरा काम नहीं है इसी से अपने परिवार का पालन-पोषण करते हैं: (170025) CS

Posted on: Jun 20, 2020. Tags: DARBHA BASTAR CG EGRICULTURE MOHAN NAG

Impact : हैण्डपंप से लाल पानी निकल रहा था, पाईप लगने के बाद साफ पानी मिलने लगा है...

ग्राम-मामडपाल, विकासखण्ड-दरभा, जिला-बस्तर (छत्तीसगढ़) से बलीराम नेताम बता रहे हैं | गांव के वार्ड क्रमांक 4 में पानी की समस्या थी| हैण्डपंप से लाल पानी निकल रहा था| जिस समस्या को उन्होंने 18 अप्रैल 2019 को सीजीनेट के रिकॉर्ड किया था |जिसके 2 सप्ताह के बाद हैण्डपंप में पाईप लगा दिया गया है | जिससे साफ पानी निकल रहा है| और लोग पानी का उपयोग कर पा रहे हैं| इसलिये वे सीजीनेट के साथियों और संबंधित अधिकारियों को जिन्होंने उनकी मदद की, सभी को धन्यवाद दे रहे हैं : बलीराम नेताम@7587183559.

Posted on: Jul 15, 2019. Tags: BALIRAM NETAM BASTAR CG DARBHA IMPACT STORY

केलगो जनेवल बरे झुमका झुमाली जानू...गीत-

ग्राम पंचायत-गुंडापाल, विकासखण्ड-दरभा, जिला-बस्तर (छत्तीसगढ़) से रामवती और रानी केसव एक गीत सुना रहे हैं:
केलगो जनेवल बरे झुमका झुमाली जानू-
बाबू झुमका झुमाली-
गारन को जाना रे-
केलगो जनेवल बरे झुमका झुमाली जानू-
बाबू झुमका झुमाली-
गारन को जाना रे...

Posted on: May 01, 2019. Tags: BASTAR CG DARBHA MANISA NAAG SONG

ग्रामीण बांस की वस्तुयें बनाकर उपयोग करते हैं, और उससे बेचकर अपनी जीविका चलाते हैं-

ग्राम पंचायत-मौली पदर, विकासखण्ड-दरभा, जिला-जगदलपुर (छत्तीसगढ़) से भोला बघेल ग्रामवासी जगबंधू नागेश से चर्चा कर रहे हैं| वे बता रहे हैं| वे बांस का सामान बनाते हैं| जिसे विवाह के समय और घरो में प्रतिदिन के कामो में लोग उपयोग करते हैं| वे 5 साल से ये काम कर रहे हैं| ये उनकी जीविका का साधन है| वे अपनी बनाई वस्तुओ को बाजार में लेकर बेचते हैं| एक दिन में 500 से 600 रुपये तक कमा लेते हैं| शादी के दिनों में बांस की बनी चीजों का विशेष महत्व होता है|

Posted on: Apr 30, 2019. Tags: BHOLA BAGHEL CG DARBHA JAGDALPUR STORY

View Older Reports »