देखो अपना देश न्यारा, सबको लगता बहुत प्यारा...देशभक्ति कविता

जिला-रीवा (मध्यप्रदेश) से दिव्यांशु सिंह एक देशभक्ति कविता सुना रहे हैं :
देखो अपना देश न्यारा, सबको लगता बहुत प्यारा-
उत्तर में हिमालय की धारा,दक्षिण में सागर-
पूरब की छटा न्यारी पश्चिम बनी खुशहाली...

Posted on: Feb 25, 2017. Tags: DIVYANSHU SINGH

कौआ और चालाक लोमड़ी की कहानी...

जिला-रीवा (मध्यप्रदेश) से दिव्यांशु सिंह कौआ और लोमड़ी की कहानी सुना रहे है वे राजहंस स्कूल में यूकेजी के छात्र हैं: जंगल में एक आम का पेड था उसमे एक कौआ बैठा था, उसके चोंच में एक रोटी का टुकड़ा था. कौआ जैसे ही रोटी खाने वाला था कि वहां एक लोमड़ी पेड़ के नीचे आ गई और बोली कौवे भाई-कौवे भाई सुना है कि आप बहुत अच्छा गाते हो तो उन्होंने कहा हाँ तो मुझे भी गा के दिखाओ तो कौआ खुश हो गया और जैसे ही उसने गाने के लिए अपना मुंह खोला वैसे ही रोटी झट से नीचे गिर गयी और लोमड़ी उसे उठाकर चली गई और कौआ कावं-कावं करता रह गया | ये थी कौआ और लोमड़ी की कहानी, आप को कैसी लगी बताइयेगा। दिव्यांशु सिंह@9993866808

Posted on: Jan 22, 2017. Tags: DIVYANSHU SINGH