येदे होरी रे हाय गा मै तो होली खेले...होली गीत-

ग्राम-बरपटिया, तहसील, ब्लाक-प्रतापपुर, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से धनसाय मरावी अपने साथी हीरा के सांथ एक होली गीत सुना रहे हैं :
येदे होरी रे हाय गा मै तो होली खेले-
आजा रे पिरिया तोरे मंगनी-
घुमे तो काहे रोंजोदीना आबे रे-
कोना पंद्रह दीन, कोन कहे छव महीना में-
हाय गा कोन कहे, झनी आय...

Posted on: Mar 22, 2019. Tags: CG DHANSAI MARAVI HOLI SONG SURAJPUR

रे ये गे राधे परान बसे राधे, छोड़ के गईले बाजेसे हे राधे...कर्मा गीत-

ग्राम-खैराडीह, ब्लाक-प्रतापपुर, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से अशोक और हंसलाल एक कर्मा गीत सुना रहे हैं :
रे ये गे राधे परान बसे राधे-
छोड़ के गईले बाजेसे हे राधे-
होहरे ये गे राधे प्राण बसे राधे-
नाने के भोरे दगावन करी लेबे रे राधे-
कका जगाबे भई, काकर जोती बे राधे परान राधे-
काकर जग मना पसताबे गे राधे...

Posted on: Sep 27, 2018. Tags: CG DHANSAI MARAVI KARMA SONG SURAJPUR

ओह रे तै तो भीजे रे गोरिया, सावन भादों के जरिया...पारंपरिक कर्मा गीत

ग्राम-बरपटिया, पोस्ट+थाना-रमकोला, तहसील-प्रतापपुर, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से राजेश आयाम एक पारंपरिक कर्मा गीत सुना रहे है जो भादो के महीने में गाया जाता है:
ओह रे तै तो भीजे रे गोरिया, सावन भादों के जरिया-
का करे भीजे लाली तो पगरिया, तै तो भीजे रे गोरिया-
काकर भीजे रसम डोरिया, तै तो भीजे रे गोरिया-
चौंडा कर भीजे लाली तो पगरिया, तै तो भीजे रे गोरिया-
चंवाडी कर भीजे रसम डोरिया, तै तो भीजे रे गोरिया...

Posted on: Sep 09, 2018. Tags: CG DHANSAI MARAVI KARMA SONG SURAJPUR SURGUJIHA

ऐदे हाय रे मया मा झन भूलो भाई...सरगुजिया कर्मा गीत-

ग्राम-बरपटिया, पोस्ट, थाना-रमकोला, तहसील-प्रतापपुर, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से धनसाय मरावी एक सरगुजिया कर्मा गीत सुना रहे हैं :
ऐदे हाय रे मया मा झन भूलो भाई-
अरे घोड़ी के फांदा गला ल फसाई रे मया मा झन भूलो भाई-
भाई बहिनी बैर होगे दुश्मन मितान गा-
एक बोतल दारू पीके परगए उतान रे मया मा झन भूलो भाई...

Posted on: Sep 06, 2018. Tags: CHHATTISGARH DHANSAI MARAVI KARMA SONG SURAJPUR SURGUJIHA

एक तीर एक कमान, पूरे आदिवासी एक समान...आदिवासी गीत-

ग्राम पंचायत-बरपाटिया, तहसील-प्रतापपुर, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से धनसाय मरावी एक आदिवासी गीत सुना रहे है :
एक तीर एक कमान, पूरे आदिवासी एक समान-
एक तीर एक कमान, पूरे आदिवासी एक समान-
पूरे आदिवासी एक समान, पूरे आदिवासी एक समान-
सबको शिक्षा सबको ज्ञान मिलना चाहिए, चाहे लईका हो सयान-
एक तीर एक कमान, पूरे आदिवासी एक समान...

Posted on: Sep 06, 2018. Tags: CHHATTISGARH DHANSAI MARAVI SONG SURAJPUR

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download