जोहर जोहर बुढा देव...गोटुल गोंडी गीत-

ग्राम-परसापानी, विकासखण्ड-नगरी, जिला-धमतरी (छत्तीसगढ़) से धनसिंह गोटा गोंडी सामुदाय का एक पारंपरिक गीत सुना रहे हैं:
ओ हो, ओ हो, ओ हो, ओ हो-
अ, अ , अ, अ-
लला लला, लला लला, लला-
हाय रेला, रेला, रेला-
रे रे लोयो रे रेला-रे रेला रे रे लोयो रे रेला... (AR)

Posted on: Jun 22, 2020. Tags: CG DHAMTARI DHANSINGH GOTA GONDI SONG

देवी गीत : कोन ला सोहे अजरा-गजरा, कोन सोहे हार...

ग्राम-केकराखोली, ब्लाक-मगर लोड, जिला-धमतरी (छत्तीसगढ़) से कीर्ति साहू और उनके साथ है पुष्पा मरकाम साथी तिकेश्वरी मरकामदेवी गीत सुना रहा है:
कोन ला सोहे अजरा-गजरा, कोन सोहे हार-
कोन सोहे माथ माँ कुटिया, सोला हो सिंगार-
महामाई ला सोहे अजरा-गजरा, ऋषि होहे हार,
बूढी माई ला सोहे माथ माँ कुतिया, सोला हो सिंगार-
माई बर फुल गजरा, माई बर फुल गजरा-
गुथव हो मलिन के फुल जगरा, सोला हो सिंगार-
काहे फुल के अजरा-गजरा, काहे फुल के हार-
कान्हेर फुल के अजरा-गजरा, चमेली फुल के हार-
कान्हेर फुल के माथ में कुटिया सोला हो सिंगार-
माई बर फुल गजरा, माई बर फुल गजरा-
गुथव हो मलिन के फुल गजरा...

Posted on: Nov 18, 2019. Tags: DHAMTARI CG KEERTI SAHU SONG

रेला गीत : साय रे रे ला दवना पान, नैना गढ़ी-गढ़ी जाय...

ग्राम-केकराखोली, जिला-धमतरी (छत्तीसगढ़) से कीर्ति साहू और उनके साथ है राजेश कुमार रेला गीत सुना रहा है:
साय रे रे ला दवना पान, नैना गढ़ी-गढ़ी जाय-
हाय रे हाय दवना पान, नैना गढ़ी-गढ़ी जाय-
फुल कस चेहरा मुस्कान भरे होठ मा-
हाय रे हाय दवना पान, नैना गढ़ी-गढ़ी जाय-
हमर पारा आबें-जाबों करमा-ददरिया-
ताल में ताल मिल जाए-
तक धि न धिन मांदर बाजे, झुमरे हे मान्दरिहा-
चंदा-चांदिनी लजाएँ-
साय रे रे ला दवना पान, नैना गढ़ी-गढ़ी जाय...

Posted on: Nov 16, 2019. Tags: DHAMTARI CG KEERTI SAHU

तरी नारी नानी मोर ना नारी नाना रे सुवा हो...सुवा गीत-

ग्राम-केकराखोली, जिला-धमतरी (छत्तीसगढ़) से फुलेश्वरी पोटई, रामबाई और बिसंतीन बाई कुंजाम एक सुवा गीत सुना रहे हैं :
तरी नारी नानी मोर ना नारी नाना रे सुवा हो-
डोकरी बिचारी नांगर वो फनदवाई दे सुवा हो-
जा चिड़िया करे ला बसेर-
सुवा बन के जा चिड़िया करे ला बसेर-
डोकरी बिचारी धान वो बोयाई दे की सुवा – तरी नारी नानी मोर ना नारी नाना रे सुवा हो....

Posted on: Nov 11, 2019. Tags: CG DHAMTARI KIRTI SAHU SONG

पहले सुमरनी हो शीतला अउ दाई ला...गीत-

ग्राम-केकराकोली, जिला-धमतरी (छत्तीसगढ़) से शांति बाई कुंजाम, रुपुर पोटाई, रामबाई सलाम और मुनिया बाई कुंजाम एक छत्तीसगढ़ी गीत सुना रहे हैं :
पहली सुमरनी हो शीतला अउ दाई ला-
सुमर सुमर के मनाओं बड़े भईया ला-
बड़े भईया अंतर्यामी बड़े भईया अंतर्यामी-
महिमा है तेरी अपार स्वामी-
मै तो आरती उतारो चारो भईया ला शीतला मैया के...

Posted on: Nov 11, 2019. Tags: CG DHAMTARI RANJIT KUMAR MANDAVI SONG

View Older Reports »