हसन्त भुदीन बंदु हरी करण रहित दयाल...दोहा गीत

ग्राम-बरसीकला, पोस्ट-अन्दवा, थाना-पनवार, जिला-रीवा (मध्यप्रदेश) से दयासागर कुशवाहा एक दोहा सुना रहें है:
हसन्त भुदीन बंदु हरी कारण रहित दयाल-
तुलसीदास सक्त भजन क्षाण कपट जंजाल-
चले राम लक्ष्मण मुनी संधा-
गयें जहा जग पावन गंगा-
गांधी सुन सब कथा या सुनाये-
जही प्रकार सुर सरीमही आये...

Posted on: Feb 27, 2018. Tags: DAYASAGR KUSHWAHA