5.6.31 Welcome to CGNet Swara

एक पल की जिंदगानी, एक रोज सबको जाना...गीत-

ग्राम-बरेतीकला, ब्लाक, तहसील-जवा, जिला-रीवा (मध्यप्रदेश) से दयासागर कुसवाहा एक गीत सुना रहे हैं :
एक पल की जिन्दगानी एक रोज सबको जाना-
वर्षो की तू क्यों सोचे पल नही ठिकाना-
मल-मल के तूने अपने तन को जो है निखारा-
इत्रों कि खुशबुओं से महके शरीर सारा-
तन-मन से तूने अपने तन को है जो निखारा-
काया जो सांथ होगी ये बात न भुलाना, वर्षो की तू क्यों सोचे पल नही ठिकाना...

Posted on: Jul 17, 2018. Tags: DAYASAGAR KUSWAHA HINDI HINDI SONG

तोरा मन दर्पण कहलाये, भले बुरे सारे कर्मो को देखे और दिखाए...भजन गीत

ग्राम-बरतीकला, पोस्ट-अन्द्वा, ब्लाक+तहसील-जवा, जिला-रीवा (मध्यप्रदेश) से दयासागर कुशवाहा एक भजन गीत सुना रहे हैं :
तोरा मन दर्पण कहलाये तोरा मन दर्पण कहलाये-
भले बुरे सारे कर्मो को देखे और दिखाए-
तोरा मन दर्पण कहलाये तोरा मन दर्पण कहलाये-
मन ही देवता मन ही ईश्वर मन से बड़ा ना कोई-
मन उजयारा जब-जब फैले जग उन्धियारा हो-
जग से चाहे भाग ले कोई मन से भाग ना पाए...

Posted on: Jul 13, 2018. Tags: DAYASAGAR KUSWAHA SONG

ऐ मालिक तेरे बंदे हम ऐसे हो हमारे करम...देश भक्ति गीत-

ग्राम-बरतीकला, पोस्ट, ब्लाक-जवा, जिला-रीवा (मध्यप्रदेश) दयासागर कुसवाहा एक देश भक्ति कविता सुना रहे हैं :
ऐ मालिक तेरे बंदे हम ऐसे हो हमारे करम-
नेकी पर चले और बदी से टले, ताकि हसते हुवे निकले दम-
बड़ा कमजोर है आदमी, अभी लाखो हैं इसमें कमी-
वो बुराई करे हम भलाई करें-
नही बदलेगी ओ भावना, है रोशनी में वो दम-
अमावास को कर दे पूनम, नेकी पर चले और बदी से टले, ताकि हसते हुवे निकले दम...

Posted on: Jul 12, 2018. Tags: DAYASAGAR KUSWAHA

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »


Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download


From our supporters »