मन लागा मेरा यार फकीरी में, जो सुख पावो राम भजन में, वो सुख नाही अमीरी में...भजन-

ग्राम-बरतीकला, पोस्ट-अमगवां, ब्लाक-जवा, जिला-रीवा (मध्यप्रदेश) से दयासागर कुशवाहा एक भजन गीत सुना रहे हैं :
मन लागा मेरा यार फकीरी में-
जो सुख पावो राम भजन में, वो सुख नाही अमीरी में-
भला बुरा सब का सुन लीजो, कर गुजरान गरीबी में-
आख़िरी ऐसन ख़ाक मिलेगा, कहाँ फिरत मगरुरी में-
कहत कबीर सुनों भाई साधो, साहिब मिले सबूरी में-
मन लागा मेरा यार फकीरी में...

Posted on: Jul 30, 2018. Tags: DAYASAGAR KUSAWAHA SONG

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download