हिन्द देश के निवासी सभी जन एक हैं...देशभक्ति गीत-

ग्राम-मंगुरदा, जिला-बिलासपुर (छत्तीसगढ़) से दशरत यादव एक देशभक्ति गीत सुना रहे हैं :
हिन्द देश के निवासी सभी जन एक हैं-
रंग रूप वेष भाषा चाहे अनेक हैं-
हिन्द देश के निवासी सभी जन एक हैं-
रंग रूप वेष भाषा चाहे अनेक हैं-
बेला गुलाब जूही चम्पा चमेली-
प्यारे-प्यारे फूल गूंथे माला में एक हैं...

Posted on: Dec 07, 2019. Tags: BILASPUR CG DASHRATH YADAV SONG VICTIMS REGISTER

अपने मतदान के अधिकार को समझे, वोट जरुर दें...जागरूकता-

ग्राम-चोटानगा, विकासखण्ड-पलेरा, जिला-टीकमगढ़ (मध्यप्रदेश) से दसरथ प्रसाद रजक मतदाताओं को जागरूक करते हुये, संदेश दे रहे हैं| वे बता रहे हैं| चुनाव का समय है|मतदाता किसी के बहकावे में न आयें| अपना वोट अपने हिसाब से डाले| वोट खरीदने वाले, प्रलोभन देने वालो से बचें| देश सभी को एक वोट देने का अधिकार है| वो चाहे कोई भी हो| इसलिये वोट जरुर डाले| अपने मत देने के अधिकार को समझे| उपयोग करें |

Posted on: Apr 27, 2019. Tags: DASHRATH PRASAD RAJAK MP SONG TIKAMGARH VICTIMS REGISTER

ममता की खान माता नागिन बन गई है...कविता-

जिला-टीकमगढ़, (मध्यप्रदेश) से दशरथ प्रसाद रजक कविता सुना रहा है:
विनती करूं विधाता क्या भूल मुझ से भई है-
ममता की खान माता नागिन बन गई है-
न चाह न तो मुझको भैया को प्यार देना
जूठन ही बहुत है उस विधि से यही कहना-
फिर भी वो न माना डाक्टर निर्दयी है-
शमशान हर जगह है मंदिर हो या खाई-
सबको मोह लागा माता हो या ताई...

Posted on: Mar 14, 2019. Tags: DASHRATH YADAV MADHYA PRADESH SONG TIKAMGARH VICTIMS REGISTER

झालर पिया कोन मान, झाला में झलोसे हिया तोरे...कर्मा गीत-

, ग्राम-पालदनौली, विकासखण्ड-ओडगी, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से दशरथ एक कर्मा गीत सुना रहे हैं :

झालर पिया कोन मान, झाला में झलोसे हिया तोरे- झालर पिया कोन बने- पनकी डोरत रे उड़ी चले जातें- श्रीवृंदा बने रहतें- झालर पिया कोन बने रहतें...

Posted on: Sep 29, 2018. Tags: ) CG DASHRATH SONG SURAJPUR VICTIMS REGISTER

आजकल हमारे युवा इस पर काफी सोच रहे हैं कि हमारी गोंडी संस्कृति को कैसे बचाया जाए...

जामुन ढाना, ग्राम-धावडी, जिला-बैतूल (मध्यप्रदेश) से दशरथ इरपाचे अपनी गोंडी भाषा में हमें उनके इलाके से एक सुखद समाचार बता रहे है कि बता रहे हैं कि उनके गाँव के युवा लोग आज कल यह बहुत सोच रहे है कि हमारे गोंडवाना संस्कृति को कैसे बचाया जाए और उसको कैसे आगे बढाया जाए और धर्म संस्कृति को कैसे बचाना है उसके सम्बन्ध में आजकल वे लोग काफी बातचीत आपस में कर रहे है| और उनके क्षेत्र में एक पारंपरिक गोंडी डंडार का सामूहिक सांस्कृतिक कार्यक्रम होता है उसी से सम्बंधित कल एक गीत भी सीजीनेट के साथियों को सुनायेंगे, आप इंतज़ार कीजिये| दशरथ इरपाचे@8120217335.

Posted on: May 15, 2018. Tags: DASHRATH IRPACHE GONDI

View Older Reports »