5.6.31 Welcome to CGNet Swara

We lost our lands to Govt dam, Still struggling for proper compensation...

Chiraunjilal Kushwaha is calling from Rajapur village of Nivadi Tehsil, Tikamgarh district in MP and says Baruvanala from Bundelkhand package has submerged surrounding villages and many got displaced and lost land. They’ve been appealing and protesting for compensation and rehabilitation since long but all efforts went in vain and Chief Minister also didn’t keep his promises. They request listeners to call Collector@9630436333, SDM@9893635444, Tehsildar@9893823929. Chiraunjilal Kushwaha@9589580782.

Posted on: Nov 24, 2016. Tags: Chiraunjilal Kushwaha

माँ के पेट से बेटी बोली मइया मुझे मार मत देना...बेटी बचाओ गीत

चिरौंजी लाल कुशवाहा, ग्राम-राजापुर, तहसील-निवाड़ी, जिला-टीकमगढ़(मध्यप्रदेश) से एक बेटी बचाओ अभियान पर एक गीत सुना रहे हैं:
माँ के पेट से बेटी बोली मइया मुझे मार मत देना-
जन्म जो लूंगी तेरे घर में नाम अमर कर दूँगी-
जिस दिन से मइया तूने अल्ट्रासाउंड कराया-
जन्म जो देती का सुनकर मन में तू घबराये-
जाकर के बाबुल से कह दो,मइया मुझे गिरा मत देना-
जन्म जो लूंगी...

भइया का जूठन खाकर में जिन्दा रह लूंगी
फटी किताबें मैं पढ़कर मैं आगे बढ़ लूंगी
दान दहेज़ में कुछ न लूंगी ,
महल,अटारी न जमीन लूंगी
जाकर बाबुल से कह दो,मइया मुझे गिर मत देना

Posted on: Jun 12, 2016. Tags: Chiraunjilal Kushwaha

जिन्होंने अपने देश खातिर जान गवां दइ रे...वीरांगना लक्ष्मीबाई पर गीत

चिरौंजी लाल कुशवाहा ,ग्राम-राजापुर, तहसील निवाडी जिला-टीकमगढ़,(मध्यप्रदेश) से वीरांगना लक्ष्मीबाई पर एक गीत गा रहे है :
जिन्होंने अपने देश खातिर जान गवां दइ रे-
उन वीरों को प्रणाम शान पे जान गवां दइ रे-
झाँसी की रानी वो अमर कहानी सुनो भइया-
बीच समर में गाड़ के झंडा दइयो सलामी रे-
काट-काट के दुश्मन के खून की नदिया बहा दइ रे-
काट-काट के सर दुश्मन के खून की होली खिला दइ रे-
उन वीरों को...

Posted on: May 28, 2016. Tags: Chiraunjilal Kushwaha

जिन्होंने अपने देश की खातिर, जान गवां दइ रे...

ग्राम-राजापुर, तहसील-निवाड़ी, जिला-टीकमगढ़ से चिरौंजीलाल कुशवाहा एक देशभक्ति गीत प्रस्तुत कर रहे हैं:
जिन्होंने अपने देश की खातिर, जान गवां दइ रे-
वो झाँसी की रानी, वो अमर कहानी सुनो भइया-
जिन्होंने अपने देश के खातिर, जान गवां दइ रे-
उन वीरों के पीड़ा में शान से जान गवां गइ रे-
वो झाँसी की रानी वो अमर कहानी, सुनो भइया-
बीच समर में गाड़ के झंडा, दीजे सलामी रे-
उन वीरों को...
वो झाँसी की रानी वो अमर कहानी, सुनो भइया-
अरे काट-काट के सर दुश्मन के, खून की नदिया बहा दइ रे-
उन वीरों को...
सीमा पे अड़ी थी वो डट के लड़ी थी, सुनो भइया-
अरे काट-काट के सर दुश्मन के, खून की नदिया बहा गई रे-
उन वीरों को...

Posted on: Dec 23, 2014. Tags: Chiraunjilal Kushwaha

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download