आई हैं हम सब बहनें, महिला दिवस मनाने ...

आई है रे आई है, आई है रे आई है
आई हैं हम सब बहनें , महिला दिवस मनाने
आठ मार्च मनाने हो अपना दिन मनाने
अरे आई है रे ````````
खाएंगे आज हम कसमें
मांगेंगे हक़ हम अपने
मांगेंगे हक़ हम अपने
लड़के लेंगे हक़ हम अपने
अरे आई है…………
जान ली है उनकी बातें
जो हमको हैं बहकाते
जो हमको हैं बहकाते
और आपस में लड़ाते
अरे आई है..........
कर लेंगे अब हम एका
और नाश करें जुर्मों का
नाश करें जुर्मों का
बेड़ा पार करें बहनों का
अरे आई है ………।
नाचेंगे हम आज मिलकर
गाएंगे हम आज मिलकर
गाएंगे हम आज मिलकर
धूम मचाएंगे मिलकर
आई है रे आई है, आई है रे आई है
आई हैं हम सब बहनें , महिला दिवस मनाने
आठ मार्च मनाने हो अपना दिन मनाने
अरे आई है ……।

Posted on: Mar 09, 2014. Tags: Chandrika Kaushal

मोर माटी के मितान, चल मज़दूर और किसान...

मोर माटी के मितान

चल मज़दूर और किसान
ज़ुल्म अत्याचार ला मिटाए बर करो
संघर्ष और निर्माण

ये धरती के रखवाला किसान भोलाभाला
मेहनतकश मज़दूर दुनिया बनाने वाला
हमर गा कमाई में दुनिया हर जीयत हे
कौन पापी बैरी हमर लहू ला पीयत हे
भाई नौजवान, सुनो गा किसान
ज़ुल्म अत्याचार ला मिटाए बर करो
संघर्ष और निर्माण

खेती खार सुखावत हे, मशीन काम नंगावत हे
लइका मन के ज़िंदगी ला कौन डहर रेंगत हे
स्कूल मा मास्टर नई हे, अस्पताल में दवा नई हे
खेत बर पानी नई हे, इहां सुद्ध हवा नई हे
लइका औ सियान जागो गा मितान
ज़ुल्म अत्याचार ला मिटाए बर करो
संघर्ष और निर्माण

Posted on: Nov 25, 2010. Tags: Chandrika Kaushal