अंगन मोरे पवना धीरे-धीरे आना...रामायण कीर्तन गीत

अंगन मोरे पवना धीरे-धीरे आना
दशरथ के अंगना में कुँइया खोनाय,
नहाईं चारो भइया,नहाईं उसी मइया
दशरथ के अंगना म झुलुआ गड़े हो
झूली चारो भइया,झुलाये उसी मइया

Posted on: Jun 02, 2014. Tags: Chandrawati

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download