लाल टमाटर खाऊँगी पाकिस्तान को जाऊँगी....बाल कविता

ग्राम-खैराभाट पंचायत-खडकागाँव ब्लॉक -नारायणपुर, जिला-नारायणपुर (छत्तीसगढ़) से जनकबती कुमेटी हमारे श्रोताओं को एक बाल कविता सुना रही है:
लाल टमाटर खाऊँगी पाकिस्तान को जाऊँगी-
6 पकड़कर लाऊँगी मात्रभूमि के चरणों में-
अपना शीश झुकाउँगी खाकी कोयल कू-
कू कू चलती है खा खा खरगोश बड़ा है
CS

Posted on: Jun 18, 2020. Tags: BHAMRAGAD GADCHIROLI CG CHILDREN JANAKBATI KUMETI POEM

मछली जल की रानी है...बाल कविता-

भामरागढ़, जिला-गडचिरोली (महाराष्ट्र) से प्रीतम एक बाल कविता सुना रहे हैं:
मछली जल की रानी है-
जीवन उसका पानी है-
हाँथ लगाओ डर जायेगी-
बाहर निकालो मर जायेगी-
एगा एगा सॉरी मलने बड़के बोरी...

Posted on: Jun 15, 2020. Tags: CHILDREN GADCHIROLI MH POEM PRITAM

है नमच के बात बच्चों...बाल गीत-

बैकुंठपुर, जिला-कोरिया (छत्तीसगढ़) से पूनम देवांगन एक बालगीत सुना रही हैं :
है नमच के बात-
दो छोटे हाथ मारे दिनभर काम करती है-
जब रात में थक जाती है तो सो जाती है-
दो छोटे पैर मारे दिनभर चला करती है-
जब रात में थक जाती है तो सो जाती है...

Posted on: Jun 15, 2020. Tags: CG CHILDREN KOREA PUNAM DEVANGAN SONG

कंदा कुसला तो भोजन लाही रे, चंपा पडिगे हे अकेल...सरगुजिहा बाल गीत-

ग्राम-भरदा, पोस्ट-कोटया, तहसील-प्रतापपुर, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से रामसिंह टेकाम सरगुजिहा भाषा में एक कहानी और गीत के माध्यम से एक बच्चे की व्यथा को सुना रहे हैं :
कंदा कुसला तो भोजन लाही रे, चंपा पडिगे हे अकेल-
माता पिता अजनवईयापुर में, हंसा हर फिरथे अकेल-
फेको चला रोड वन में कारी कुवरी-
एगा रघुवर हर बीने
फिर चला रुण्ड बन में कारी कुहेर-
माता-पिता बनवास लिखेंन हो लिखीन बनकी आवहेल...
शीसा तो मुनि हर जता लोके-
कन्दा कुसला तो भोजना लागी रे चंपा पड़े है अकेल...

Posted on: Sep 30, 2018. Tags: CG CHILDREN PRATAPPUR RAMSINGH TEKAM SONG SURAJPUR SURGUJIHA

गेंद गिर गए जमुना मा, कूदो कन्हैया...बाल कविता-

ग्राम-बैजलपुर, जिला-कबीरधाम (छत्तीसगढ़) से पांचवी कक्षा की छात्रा इंद्रानी हरिशंकर रजक को एक बाल कविता सुना रही है :
गेंद गिर गए जमुना मा, कूदो कन्हैया-
काका मेरा गाए गेंद के खेलईया-
काकी मेरा गाए गेंद के खेलईया-
भईया मेरा गाए गेंद के खेलईया-
गेंद गिर गए जमुना मा, कूदो कन्हैया-
भाभी मेरा गाए गेंद के खेलईया...

Posted on: Sep 25, 2018. Tags: CG CHILDREN HARISHANKAR RAJAK KABIRDHAM POEM

View Older Reports »