5.6.31 Welcome to CGNet Swara

स्वास्थ्य स्वर : पुराने बुखार या जीर्ण ज्वर का घरेलू उपचार-

ग्राम-रहेंगी, तहसील-लोरमी, जिला-मुंगेली (छत्तीसगढ़) से वैद्य चंद्रकांत शर्मा पुराने बुखार जिसे जीर्ण ज्वर के नाम से भी जाना जाता है, का घरेलू उपचार बता रहे हैं, जो व्यक्ति इस बीमारी से पीड़ित हैं वे चिरायता, सोंठ, वच, आंवला और गिलोय सभी को बराबर मात्रा में मिलाकर पीस लें और एक-एक चम्मच दिन में तीन बार सेवन करें, इससे आराम मिल सकता है, अधिक जानकारी के लिए दिए गए नंबर पर संपर्क कर सकते हैं: चंद्रकांत शर्मा@9893327457.

Posted on: Sep 16, 2018. Tags: CG CHANDRAKANT SHARMA HEALTH MUNGELI SWASTHYA SWARA

स्वास्थ्य स्वर : बांझपन की समस्या का घरेलू उपचार-

ग्राम-रहेंगी, तहसील-लोरमी, जिला-मुंगेली (छत्तीसगढ़) से वैद्य चंद्रकांत शर्मा बांझपन की समस्या का घरेलू उपचार बता रहे हैं, कुछ महिलाओ को शारीरिक कमी या कमजोरी के कारण संतान नही होता, तो वे एक चम्मच असगन का चूर्ण और एक चम्मच देशी घी दोनों को मिश्री मिले दूध के साथ मासिक धर्म के छठवे दिन से पूरे माह सेवन करने से लाभ हो सकता है, दवा का सेवन दिन में एक बार सुबह खाली पेट करना है, अधिक जानकारी के लिए दिए गए नंबर पर संपर्क कर सकते हैं : चन्द्रकान्त शर्मा@9893327457.

Posted on: Sep 16, 2018. Tags: CG CHANDRAKANT SHARMA HEALTH MUNGELI SWASTHYA SWARA

काबे मजुरावे वाता रे, कोन मजुलिहा ले बसेंड मजुरावे वाता ओ...सरगुजिया गीत-

परसापारा, ग्राम-ओदारी, पोस्ट-काला बरती, तहसील-वाड्रफनगर, थाना-चलगली, जिला-बलरामपुर (छत्तीसगढ़) से चंदरसाय सरगुजिया भाषा में एक गीत सुना रहे हैं :
काबे मजुरावे वाता रे, कोन मजुलिहा ले बसेंड-
मजुरावे वाता ओ-
यें माजुरावें वांता रे, कोन मजुलिहा ले बसेंड-
जब तोरे हे कोन मजुलिया ले बसें,
मजुरावें वत्ता रे सलिया में लिहा ले बसेंड...

Posted on: Sep 14, 2018. Tags: BALRAMPUR CG CHANDARSAI SONG SURGUJIHA WADRAFNAGAR

स्वास्थ्य स्वर : टीबी बीमारी का घरेलू उपचार-

ग्राम-रहेंगी, तहसील-लोरमी, जिला-मुंगेली (छत्तीसगढ़) से वैद्य चंद्रकांत शर्मा आज हमें टीबी बीमारी का घरेलू उपचार बता रहे हैं, इसे क्षय रोग के नाम से भी जाना जाता है, जो व्यक्ति टीबी बीमारी से ग्रषित हो, वे अडूसा के फूलो का चूर्ण 10 ग्राम और मिश्री 10 ग्राम दोनो को मिलाकर एक गिलास दूध में मिलाकर सुबह-शाम सेवन करें, लगातार 6 माह तक सेवन करने से आराम मिल सकता है, अडूसा के पत्ते का प्रयोग खांसी में भी किया जा सकता है, अधिक जानकारी के लिए दिए गए नंबर पर संपर्क कर सकते हैं : चंद्रकांत शर्मा@9893327457.

Posted on: Sep 12, 2018. Tags: CG CHANDRAKANT SHARMA MUNGELI SWASTHYA SWARA TB

स्वास्थ्य स्वर : डायबिटीज बीमारी से बचने का एक घरेलू उपाय -

ग्राम-रहेंगी, पोस्ट-लोरमी, जिला-मुंगेली (छत्तीसगढ़) से वैद्य चंद्रकांत शर्मा आज हमें शुगर या डायबटीज अर्थात मधुमेह से बचने का एक घरेलू उपाय बता रहे हैं, आज डायबटीज एक ऐसी समस्या है, जो किसी को भी हो सकती है और घर घर में पायी जा रही है, वे कह रहे हैं कि इस समस्या से बचने के लिए बादाम, जौ, चना सभी 100-100 ग्राम लेकर पीसकर महीन चूर्ण बना ले और सुबह शाम पानी के साथ सेवन करें, इसके साथ ही डायबटीज के रोगी जो परहेज करते है, वे भी करते रहें, इससे समस्या से आराम मिल सकता है, इस तरह हम अपने आसपास पाए जाने वाले वनस्पतियों से स्वस्थ रह सकते हैं अधिक जानकारी के लिए दिए गए नंबर पर संपर्क कर सकते हैं : चंद्रकांत शर्मा@9893327457.

Posted on: Sep 07, 2018. Tags: CHANDRAKANT SHARMA CHHATTISGARH HEALTH MUNGELI SWASTHYA SWARA

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »


Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download


From our supporters »