ये जंगल जमीन ये तो नहीं तो छाडो रे...जंगल संघर्ष गीत

प्रथम अखिल भारतीय जंगल आंदोलन सम्मलेन, रायपुर (छत्तीसगढ़) से भैयालाल मसराम जंगल से सम्बंधित एक गीत गा रहे हैं:
हे हय रे हाथ टूटे गा,चाहे मुंड फुटे रे-
ये जंगल गा हमार भैया नहीं तो छाडो रे-
ये जंगल जमीन ये तो नहीं तो छाडो रे-
मुंड फुटेगा चाहे गोड टूटेय रे-
ये जंगल जमीन ये तो नहीं तो छाडो रे-
ये जंगल में हवन हम सब दिन की रहय्या-
हाथ टूटेगा,चाहे मुंड फुटे रे...

Posted on: Mar 23, 2015. Tags: Bhaiyalal Masram

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download