अरे पढ़ना-बढ़ना ता स्कूल खुले माता...गोंडी शिक्षा गीत

ग्राम-पाठई, पोस्ट-कौड़िया, तहसील-पांढुर्ना, जिला-छिन्दवाडा (मध्यप्रदेश) से बस्तीराम नागवंशी एक गोंडी गीत गा रहे हैं, यह गीत आदिवासी बच्चों को स्कूल जाने के लिए प्रेरित करने वाला है. क्योंकि आदिवासी बच्चे बहुत कम स्कूल जाते हैं. गीत के माध्यम से बच्चों को बताया गया है कि कैसे स्कूल जाना ज़रूरी है और स्कूल जाने के क्या-क्या फायदे हैं...
अरे पढ़ना-बढ़ना ता स्कूल खुले माता,
आदिवासी भाई निकुन बाड़ी नींद वाता
मैडम जी वाता हमें गुरूजी भी वातोल,
आदिवासी भाई निकुन बाड़ी नींद वाता
पढ़ना बढ़ना ता ...

Posted on: Jul 12, 2014. Tags: Bastiram Nagvanshi

बारिश ता मंजा इमा येता नवा सांगो दा, लक इमा बाड़ी उतोनी...गोंडी वर्षा गीत

ग्राम पाठई पोस्ट कौड़िया तहसील पांढुर्ना जिला छिन्दवाड़ा (मप्र) से बस्तीराम नागवंशी जी एक गोंडी गीत गा रहे हैं इस गीत को बरसात के समय में गाया जाता हैं हमारे यहाँ दांडिया या डंडार होता हैं और ढोल बजते हैं...
बारिश ता मंजा इमा येता नवा सांगो दा,लक इमा बाड़ी उतोनी’
बारिश ता मंजा इमा नवा सांगो दा, लक इमा बाड़ी उतोनी
सुर-सुर-सुर वडी ताकी लाता,सुर-सुर-सुर वडी ताकी लाता।
रिमझिम-रिमझिम बरसात आयी लाता
निवा पोंडिना,निवा पोंडिना इमा समले किम सांगो दा,
लक इमा बाड़ी उतोनी
बारिश ता मंजा...
डम डम-डम डम ढोल नेकी लाता, डम डम-डम डम ढोल नेकी लाता
कट कट-कट कट येनदी इमा लाता, कट कट-कट कट येनदी इमा लाता,
अणि दांदर ता पोल इमा सजी किम नवा सांगो दा,लक इमा बाड़ी उतोनी
बारिश ता मंजा...

Posted on: Jul 10, 2014. Tags: Bastiram Nagvanshi Gondi

अरे पढ़ना बढ़ना ता, स्कूल खुले माता...गोंडी शिक्षा गीत

ग्राम पाठई पोस्ट कौड़िया तहसील पांढुर्ना जिला (मध्यप्रदेश) से बस्तीराम नागवंशी एक गोंडी गीत गा रहे हैं जो शिक्षा के ऊपर आधारित हैं जब स्कूल लगता हैं और आदिवासी बच्चे बहुत कम स्कूल जाते हैं तो उनको प्रेरित करने के लिए यह गीत है:
अरे पढ़ना बढ़ना ता, स्कूल खुले माता
आदिवासी भाई निकुन बाड़ी नींद वाता
अरे पढ़ना बढ़ना ता, स्कूल खुले माता
आदिवासी भाई निकुन बाड़ी नींद वाता
मैडम भी वाता आणि गुरूजी भी वातोल
आदिवासी भाई निकुन बाड़ी नींद वाता
पढ़ना बढ़ना ता...

Posted on: Jul 08, 2014. Tags: Bastiram Nagvanshi Gondi

री रिलो तगा मोरे,री रिलो तगा मोरे री रिलो...गोंडी गीत

ग्राम पाटई पोस्ट कौड़िया तहसील पांढुर्ना जिला छिन्दवाड़ा (मप्र) से बस्तीराम नागवंशी जी एक गोंडी गीत गा रहे हैं...
री रिलो तगा मोरे,री रिलो तगा मोरे री रिलो
हाथला उठा के जय सेवा बोलो
मुठीला बांधके जय सेवा बोलो।
अपन गोंडवाना के राजा बना लो
राजा बना लो सिंहासन सजा लो

Posted on: Jul 03, 2014. Tags: Bastiram Nagvanshi Gondi

Our ponds have dried, Animals are dying, Please call officers to dig ponds...

Bastiram Nagvanshi is visiting Bade Topal in Kanker ( North Bastar) in Chhattisgarh where villagers tell him that their village pond has dried up and animals are dying. People are also suffering though they have hand pump for drinking water. They request us to talk to local officer at 09691242080 to help them dig a pond. They have requested local officials many times and also local MLA Vikram Usendi but there is no response. For more Nagvanshi@9407124959

Posted on: May 22, 2014. Tags: Bastiram Nagvanshi

« View Newer Reports

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download