सब तो वाद तिरंगे सानू , प्यार औंदांए...पंजाबी देशभक्ति गीत

बलजीत सागर, भटिंडा, पंजाब से हैं, आजादी-तिरंगे व देश प्रेम से सम्बंधित एक गीत पंजाबी में सुना रहे हैं:
साडे देश तिरंगे ते , दिल्या है खून शहीदा दां
ये देश है गुरुवा-पीरां दां, ये परिया परा मूरीदा दां
हर मुरीद अखेड़ मणा-मरणा, वार-वार जौदांए
सब तो वाद तिरंगे सानू, प्यार औंदांए
शरहदां ते जागदें, ठंडिया रातानु चाट दें
गर कोई आ जाएगा, रहंदे दां न जरा पाप दें
दुश्मन नु मारिए ढेरके, न कोई गद्दार पौंदाएं
सब तो वाद तिरंगे सानू...
हिन्दू-मुस्लिम- सिख-ईसाई
रहंदे पण के भाई-भाई
सबतर मांदा आदर कर दे
ये दिल है हिन्दुस्तान दां, सारा देश गौंदाए
सब तो वाद तिरंगे सानू...
मेरे देश दे नौजवानों, कुदून जरा होशियार करो
करकर विच मिशाल जलाओ, तिरंगे दा सत्कार करो
बलजीत गौरवे हिन्द नु अपणा, शीश झुकौंदाए
सब तो वाद तिरंगे सानू...

Posted on: Jul 28, 2014. Tags: Baljit Sagar

इम्तिहान दी कड़ी है, मुश्किल बड़ी है...पंजाबी देशभक्ति गीत

इम्तिहान दी कड़ी है, मुश्किल बड़ी है
सच होया परेशान, गुड्डी चूठ दी चढ़ी है
कोई आके अनजाणा , केंदा मैं हाँ परवाना
लाट जग दी तो मुड़ आया, नकली दीवाना
परवाने ते सम्मा दी ताँ, बनदी बड़ी है
इम्तिहान दी कड़ी है...
सब लबदे किनारा , तक दूजे दा सहारा
सवार फांदी डुंगी खाँई विच, पीर खांदा गारा
अड्डो-अड्ड फिर दे सारे, किश्ती गारे क्यूँ खड़ी है
इम्तिहान दी कड़ी है...
उलिगे आये इक गाणा, साड्डी कल्ले आणा- जाणा
किस्से कल्ले देनी बस, पहाड़ नाल मत्था लाणा
जित्ती हार जंग जदो-जदो, एकता लड़ी है
इम्तिहान दी कड़ी है...
गल दश मेरे यार, पार्थ मा बाले के प्यार
की देनु नुते यार, ज़रा करनी विचार
देश प्रेम वीये मौला, कई सिरांदी जड़ी है
इम्तिहान दी कड़ी है, मुश्किल बड़ी है
सच होया परेशान, गुड्डी चूठ दी चढ़ी है।

Posted on: Jul 27, 2014. Tags: Baljit Sagar