गोटुल में हम अपने नियम क़ानून की चर्चा करते हैं, शादी भी यहीं होती है, यह गाँव का पुराना स्थान है...

ग्राम पंचायत उलिया, विकासखण्ड-कोयलीबेड़ा, जिला-उत्तर बस्तर कांकेर (छत्तीसगढ़) से सोम आतरम, बुधुराम वड्डे बता रहे है कि अभी गाँव के लोगो के साथ गोटुल में एक बैठक चल रही है ये गोटुल पूर्वजो का बनाया हुआ है ऊपर में छत वगैरह रिपेयरिंग किया है इस गोटुल में सभी गाँव के लोग बैठते हैं और सभी लोग बैठ कर गाँव की पूजा पाठ के बारे में चर्चा करते हैं और गाँव के लोगों की गोटुल में ही शादी होती हैं | हर नियम कानून के बारे में गोटुल में ही बैठ कर तय किया जाता हैं जो भी गाँव के लोग गलती करते हैं उसको गोटुल में ही निर्णय करते हैं |वे कह रहे हैं कि यहां अधिक लोग गोंडी जानते हैं और हिंदी कम जानते हैं और सरकार को अन्य भाषाओं की तरह गोंडी को भी मान्यता देना चाहिए

Posted on: Aug 26, 2018. Tags: BUDHURAM WADDE CULTURE KANKER CHHATTISGARH SOM AATRAM