आओ रे सब मुझे घेरकर गाओ सावन...गीत-

ग्राम-कमको, पोस्ट-समनापुर, जिला-डिंडोरी (मध्यप्रदेश) से बी एल यादव एक कविता सुना रहे हैं:
पका हुआ कि धार झूलता है मेरा मन-
आओ रे सब मुझे घेरकर गाओ सावन-
इंद्र धनुष के झूले में झूले में सब जन-
थिर थिर आये जीवन में सावन मनभावन-
पकड़ वार की धार झूलता है मेरा मन-
आओ रे सब मुझे घेरकर गाओ सावन... (AR)

Posted on: Jul 19, 2020. Tags: BL YADAV DINDORI MP POEM