शौचालय बनवाओ, नाहक समय ना गवाईयो...बुन्देलखंडी स्वच्छता गीत

ग्राम+पोस्ट-बांदकपुर, जिला-दमोह (मध्यप्रदेश) से संतोष भारती एक बुन्देलखंडी भाषा में स्वच्छता गीत सुना रहे हैं:
शौचालय बनवाओ, नाहक समय ना गवाईयो-
तारी घर की इज्जत देश की है शान-
शौच जाए बहार तो हो रही हैरान, लाज उनकी बचाओ-
गांधी जी का सपना स्वक्ष हो भारत देश-
आज हम दे रहे घर-घर संदेश-
स्वक्ष होवे सारे गांव, रोशन होवे नाव...

Posted on: Sep 09, 2018. Tags: BUNDELKHANDI DAMOH MP SANTOSH BHARATI SONG

कोन स्यात में बढई कक्का, अरे जब कुर्सी बना के धर दई...बुंदेलखण्डी गीत

ग्राम+पोस्ट-बांदाकपुर, जिला-दमोह (मध्यप्रदेश) से संतोष भारती बुंदेलखण्डी भाषा में एक गीत सुना रहे है:
कोन स्यात में बढई कक्का, अरे जब कुर्सी बना के धर दई-
अरी तोरी अक्कल खोह का कहिए, तेस ते आफत कर दई-
जब से प्रजा तंत्र जो आओ, पांच साल में होत चुनाव-
अरे तूड़ोभव कुर्सी को भाव, जो पा जावे छोड़त नईया-
अरे चुंबक सी फिट कर दई, तोरी अक्कल खोका कईए तेस से आफत कर दई-
जो बन जावे नोकर चाकर, बदल जात कुर्सी वो पाकर...

Posted on: Sep 08, 2018. Tags: BUNDELKHANDI DAMOH MP SANTOSH BHARATI SONG

100 में 70 आदमी फिलहाल जब नाशाद है, दिल में रख के हाथ कहिये देश क्या आज़ाद है?

भरत लाल मानिकपुरी कुछ पंक्तिओं से अपनी बात को कह रहे है:
100 में 70 आदमी फिलहाल जब नाशाद है, तो दिल में रख के हाथ कहिये देश क्या आजाद है?
कोठियों से मुल्क की सम्पन्नता मत आंकिये, असली हिंदुस्तान तो फुटपाथ पर आबाद है – ये घरती क्या आसमां भी हिल जायेगा-हर पत्थरों पर फूल कोई खिल जायेगा-
एक बार मेरे यार दिल में बसा ले सत्य गुरु को-इन्सान क्या, खुदा भी तुझे मिल जायेगा-
गाँधी के सिद्धांतों को जेल हो गई-राजनीति बेवकूफी भरा खेल हो गई-
सत्ता के विधाता धन के संतरी हो गये-डाकू और गुंडे देखो मंत्री हो गए-
अगर तुम्हारे ह्रदय में जीवन में प्रकाश चाहिए-तो दिल में गाँधी और हांथों में सुभाष चाहिए...

Posted on: Sep 04, 2018. Tags: BHARATLAL MANIKPURI CG POEM RAIPUR

कहाँ कर डांग डोरा कहाँ कर बनसी...डोमकच गीत

ग्राम-डाडकरवा, पोस्ट-रेवटी, तहसील-प्रतापपुर, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से भारत सिंह आयाम एक डोमकच गीत सुना रहे है:
कहाँ कर डांग डोरा कहाँ कर बनसी-
कहाँ जगे लोलो रे लागबो माया फांस-
मै नई ठको लोलो लगाले माया फांस-
प्रतापपुर कर डांग डोरा पेंडारी कर बनसी-
लमाधकी लोलो रे लगबो माया फांस-
कहां कर डांग डोरा काहा कर बंनसी ये...

Posted on: Aug 02, 2018. Tags: BHARAT SINGH AYAM DOMKACH SONG SURAJPUR

रेला-रेला रे रे रेला, रे रे रेला रेला-रेला रे रेला...गोंडी गीत

ग्राम-मनकापुर, मंडल-गुडनूर, जिला-आदिलाबाद, तेलंगाना से कनका भारत जी एक गोंडी गीत गा रहे हैं. इस गीत के माध्यम से बताया गया हैं कि आदिवासी
संस्कृति,गोंडी भाषा जो 8 राज्यों में बोली जाती है, इसका सम्मान होना चाहिए:
रेला-रेला रे रे रेला, रे रे रेला रेला-रेला रे रेला
सूर्यावंशी राज गोंड आदिवासी
सूर्यावंशी राज गोंड, आदिवासी गोंडवाना
गोंडवाना चरित्रा, उजड़े माता मावा
गोंडवाना चरित्र मुने ओयकट
कोयावंशी राज गोंड ...
देश वलिया निमे, दुनिया तिरिया कोको
मावा संस्कृति तुन, इमा भूले मायमा
कोयावंशी राज गोंड ...

Posted on: Sep 20, 2014. Tags: Kanaka Bharat

« View Newer Reports

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download