हमारे मोहल्ले में हैंडपंप नही है पानी के लिये समस्या होती है...कृपया मदद करें-

ग्राम-बेल्करिहा पारा, पंचायत-कुसमुसी, ब्लाक-भैयाथान, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से त्रिलोक पैकरा बता रहे हैं, उनके गाँव के वार्ड क्रमांक 14 में हैण्डपंप नहीं है | गांव में 150 लोगों की जनसंख्या है| लोगों को पानी के लिये दिक्कतों का सामना करना पड़ता है | वर्तमान में वे ढोढ़ी (छोटा कुआ) से पानी लाकर उपयोग करते हैं, जिससे सर्दी, खांसी जैसी अनेक बीमारियां हो जाती है | समस्या को हल कराने के लिये उन्होंने आवेदन दिया, लेकिन सुनवाई नही हो रही है | इसलिये वे सीजीनेट सुनने वाले सांथियों से अपील कर रहे हैं कि दिए गये नंबरों पर बात कर समस्या को हल कराने में मदद करें : कलेक्टर@9826443377, सरपंच@7722807891. संपर्क नंबर@9516254787.

Posted on: Feb 18, 2019. Tags: BHAIYATHAN CG HAND PUMP SURAJPUR TRILOK PAIKARA

जियत जागत मन के बाजे, धाम बरोबर होथे...कविता-

ग्राम-कुसमुसी, ब्लाक-भईयाथान, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से ऋतू पैकरा और बिंदिया पैकरा एक कविता सुना रहे हैं :
जियत जागत मन के बाजे, धाम बरोबर होथे-
एक सन आजादी के सौ जनम बरोबर होथे-
जेखर चेथी मा जुड़ा कस माढे रथे गुलामी-
जेन जोहारे बैरी मन ला घोलंड के लामा लामे-
नाव ले जादा जग मा ओखर होथे के बदनामी-
अइसन मन के जिंदगी बेशरम बरोबर होथे...

Posted on: Feb 15, 2019. Tags: BHAIYATHAN CG POEM ROOPLAL MARAVI SURAJPUR

ये जंगल जमीन ये तो नहीं तो छाडो रे...जंगल संघर्ष गीत

प्रथम अखिल भारतीय जंगल आंदोलन सम्मलेन, रायपुर (छत्तीसगढ़) से भैयालाल मसराम जंगल से सम्बंधित एक गीत गा रहे हैं:
हे हय रे हाथ टूटे गा,चाहे मुंड फुटे रे-
ये जंगल गा हमार भैया नहीं तो छाडो रे-
ये जंगल जमीन ये तो नहीं तो छाडो रे-
मुंड फुटेगा चाहे गोड टूटेय रे-
ये जंगल जमीन ये तो नहीं तो छाडो रे-
ये जंगल में हवन हम सब दिन की रहय्या-
हाथ टूटेगा,चाहे मुंड फुटे रे...

Posted on: Mar 23, 2015. Tags: Bhaiyalal Masram

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download