बेटी बचाने के लिए समाज को एक सुझाव: शादी में आठवाँ फेरा बेटी बचाने के संकल्प के लिए हो...

ग्राम-उभेगाँव, जिला-छिन्दवाडा (मध्यप्रदेश) से माला धुर्वे समाज को एक सुझाव दे रही हैं
और कह रही हैं कि हमारे समाज में जब दो लोग शादी के पवित्र बंधन से एक होते है तो वेद एवं शास्त्र के अनुसार सात फेरो के साथ सात वचन लेने होते हैं तो ये कह रही है कि इसमें एक और फेरा जोड़ना चाहिए, आठवाँ फेरा जिसमे नवदंपत्ति को बेटी बचाने का संकल्प लेना चाहिए, क्योंकि यदि बेटी ही नहीं होगी तो बहू कैसे लायेंगे, फेरे कौन लेगा...

Posted on: Sep 10, 2018. Tags: BETI BACHAO CHHINDWADA MALA DHURVE MP