केंजी हो तान हिमा उड़ा सीजीनेट सेवा: गोंडी गीत

ग्राम पाठई तहसील पांढुरना जिला छिन्दवाड़ा (मप्र) से बस्तीराम नागवंशी गोंडी गीत गा रहे हैं इस गीत का अर्थ है कि सीजीनेट को आदिवासी गाँव में बुलाया जा रहा और उसके माध्यम से समस्या का हल किया जा रहा है:
केंजी हो तान हिमा उड़ा सीजी नेट सेवा
सीजी नेट आपस ते किया लाता दंगा हो
हो वडा सीजीनेट सेवा रो दादा नार नार
अंजिकुन गरीबो ता समस्या केंजना हो
समस्या ता हल सीजी नेट हयून रो दादा
केंजा हो तान हिम
वडा सीजीनेट सेवा रो भइया सबै आदिवासी भाई
उड़ाना रो भैया आयता आफत रो बहिया
वडा सीजी नेट सेवा रो...

Posted on: Mar 11, 2014. Tags: Bastiram Nagvanshi

चल दाले रंटेय भोपाल हो साथी उडिले सीजीनेट ऑफिस...गोंडी गीत

ग्राम पाठई पोस्ट कौड़िया तहसील पांढुर्ना जिला छिन्दवाड़ा (मप्र) से बस्तीराम नागवंशी जी एक गोंडी गीत गा रहे हैं इस गीत के माध्यम से वे बता रहे है कि सीजीनेट स्वर में किस तरह से समस्याओ को हल किया जाता है:
चल दाले रंटेय भोपाल हो साथी उडिले सीजी नेट ऑफिस
सीजी नेट ऑफिस हो सीजी नेट ऑफिस
सीजी नेट ऑफिस समस्या हल हो उडिले दाले भोपाल
सीजी नेट ऑफिस ते समस्या ता हल हो समस्या हल
सब देना समस्या हल आयल हो साथी उडिले भोपाल ऑफिस
सीजी नेट ता माध्यम हर काम आयल हो हर काम आयल
सीजी नेट ता माध्यम तल हर काम आयल हो साथी हर काम आयल
अणि अपुना भी सब काम आयल हो साथी उडिले भोपाल ऑफिस

Posted on: Mar 04, 2014. Tags: Bastiram Nagvanshi Gondi

« View Newer Reports