छः साल की छोकरी, भरकर लाई टोकरी...कविता-

ग्राम-दर्राटोला, तहसील-डौंडी, जिला-बालोद (छत्तीसगढ़) से कंचन एक कविता सुना रही हैं:
छः साल की छोकरी, भरकर लाई टोकरी – टोकरी भावे नहीं बताती भाव है-
भाव नहीं है पूछना, हमें न है चुसना-
पैसा पांच होता तो, चार चने लाते-
चार में से एक चना, घोड़े को खिलाते-
घोड़ों को खिलाते तो, टाय -टाय करता-
टाय-टाय करता तो, बड़ा मज़ा आता...

Posted on: Jan 26, 2020. Tags: BALOD CG KISHOR GAUDE POEM

चलो साथियों जायेंगे जंगल अपना बचायेंगे...कविता-

बलोदा बाजार (छत्तीसगढ़) से रामनारायण यादव एक कविता सुना रहे हैं:
चलो साथियों जायेंगे जंगल अपना बचायेंगे-
पेड़ लगाकर धरती में नव हरियाली लायेंगे-
मौसम का बदलाव देखो सुनलो उसका कहना-
धरती कांपे मौत सुनामी सावधान है रहना-
काली माता बनी प्रकृति चारो तरफ थर्राया-
तपता सूरज आज धरा में तापमान बढाया-
ओजोन परत में छेड़ विकिरण धरती में आई है-
एसी रोग बीमारी आवे जिसकी बनी नहीं दवाई है...

Posted on: Jan 15, 2020. Tags: BALODABAJAR CG POEM RAMNARAYAN YADAV

छत्तीसगढ़ पारम्परिक मंडई-मेला जिला बालोद...

सीजीनेट स्वर जन पत्रिका यात्रा के दौरान जिला-बालोद (छत्तीसगढ़) से कन्हैयालाल केवट मंडई-मेला गाँव के अंचल में पहुचें है, उसी के दौरान आशा साहू एक छोटा व्यपारी जो मंडई-मेला में फलों का दुकान लगाकर सामानों को बेचते है, जिसे अपनी परिवार की गुजारा चलाने में अहम भूमिका होती है, और साथ में खेती-बाड़ी का कार्य भी किया जाता है, परन्तु उनके द्वारा बताया जा रहा है कृषि कार्य से पर्याप्त नही पाता इस लिए इस व्यापार को करना अतिआवश्यक है, इस सन्देश के माध्यम से लोगों को प्रेरित कर रहें है जीवन में अपनी जीवनयापन चलाने के लिए किसी एक कार्य को सम्पूर्ण से लगातार करने से सफल माना जाता है. इस प्रकार की कार्य हर एक इन्सान को करना चाहिए जिसे अपने जीवन में सुख पा सकें.

Posted on: Dec 12, 2019. Tags: BALOD CG KANHAILAL KEWAT

तेरी पनाह में हमें रखना सीखें हम नेक राह पर चलना...गीत-

जिला-बालोद (छत्तीसगढ़) से तामेश्वरी और संगीता एक गीत सुना रहे हैं :
तेरी पनाह में हमें रखना सीखें हम नेक राह पर चलना-
कपट करम चोरी बेईमानी और हिंसा से हमको बचाना-
निर्मल गंगाजल ही बनाना अपनी निगाह में हमें रखना-
क्षमावान कोई तुझसा नहीं और मुझसा नहीं कोई अपराधी-
पुण्य की नगरी में भी मैने पापों की गठरी ही बांधी हो हो-
करुणा की छाँव में हमें रखना...

Posted on: Apr 11, 2019. Tags: BALOD CG RADHA KACHLAM SONG

स्वास्थ्य स्वर : गर्मी के दिनों में होने वाली समस्या का घरेलू उपचार-

गुंडरदही, जिला-बालोद (छत्तीसगढ़) से वैध एच डी गांधी गांव के निवासी हरीश चावड़ा से चर्चा कर रहे हैं| वे बता रहे हैं| गर्मी का समय है| इन दिनों लोगो को अपने खान-पान में ध्यान देने की जरुरत होती है| इन दिनों संतुलित भोजन करें| अधिक, मिर्च, मसाला युक्त भोजन न करें| क्यों कि उससे अपच, गैस जैसी समस्या होने के ज्यादा संभावना रहती है| गर्मी के दिनों में 25 से 30 पत्ती पुदीने की काली मिर्च और नमक मिलाकर चटनी बनाकर एक चम्मच प्रतिदिन भोजन के वक्त सेवन करें| उससे शरीर ठण्डा रहता है| स्वास्थ्य लाभ होता है| हरीश चावड़ा@9893765366.

Posted on: Mar 31, 2019. Tags: BALOD CG HD GANDHI HEALTH

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download